Posts

Showing posts from October, 2018

हाशिमपुरा नरसंहार: आप बीस साल की उम्र में विधवा हो गईं उसके बाद इस पहाड़ सी जिंदगी को कैसे गुजारा ?

Image
(नोट: यह लेख वसीम अकरम त्यागी फेसबुक वाल से लिया गया है जो April 19, 2015 में अपडेट किया गया था)  फैज़ अहमद फैज़ की नज्म की यह पंक्ति वैसे तो कई मौकों पर गुनगुनाई जाती रही है। मगर हाशिमपुरा के माहौल में जहां सच अपने मायने खो चुका है वहां यह पंक्ति जैबुन निशा के सामने अचानक इस संवाददाता के मुंह से निकल जाती है। जैबुन निशा इकबाल अहमद की विधवा है पीएसी की जेरे हिरासत होने वाले जनसंहार के वक्त जैबुन निशा की उम्र 20 साल थी। वर्षों बाद अदालत ने तमाम मुल्जिमों को साक्ष्य के अभाव में बरी कर दिया. विजन मुस्लिम टूडे संवाददाता वसीम अकरम त्यागी ने उनसे बात चीत की पेश है बात चीत के मुख्य अंश – आप एक उम्मीद के साथ जी रहीं थी कि आपको इंसाफ मिलेगा मगर अदालत का फैसला आपकी उम्मीदों के विपरीत आया है ? जवाब – मुझे बहुत झटका लगा जब सुना की मेरे पति के हत्यारे बरी हो गये हैं। मेरे न कुछ खाने को मन करता है और अब न ही किसी काम में मन लगता है। वह मंजर आज फिर मेरी आंखों के साने है जब पीएसी वाले उनको उठाकर ले गये थे। मैंने पूछा कि कहां ले जा रहे हो तो उन्होंने कहा कि बाहर साहब बुला रहे हैं वे दो बात करे

हाशिमपुरा नरसंहार: जिंदगी कैसे गुजरती है जैबुन निशा से पूछिये ?

Image
वसीम अकरम त्यागी  जैबुन निशा कौन ? अरे उज्मा की अम्मी ? उज्मा कौन अरे इकबाल की लड़की। अब आपका सवाल होगा कि इकबाल कौन ? इकबाल है नहीं मार दिया गया ? किसने मारा पीएसी ने ? कब मारा 22 मई 1987 को मुरादनगर नहर पर ले जाकर गोली मार दी । क्यों मारा ? मालूम नहीं ? यह एक भूमिका है जो हाशिमपुरा के दो कमरे के मकान में रहने वाली जैबुन निशा का दर्द लिखने के लिये बनानी पड़ती है। उज्मा उस दिन पैदा हुई थी जिस दिन उसके पिता को पीएसी वाले ले गये थे और फिर पता चला कि उसे मारकर नहर में बहा दिया गया। किसने मारा था सब जानते हैं ? वे हथियार भी मिल गये जिनसे गोली मारी थी वह ट्रक भी मिल गया जिसमें उन्हें लेकर गये थे वे कातिल भी मिल गये जिन्होंने मारा था। मगर कुछ है जो 31 साल बाद मिला, उसकी बहुत जरूरत थी उसकी जरूरत इसलिये भी थी कि क्योंकि उसके मिल जाने से लोगों के अंदर आत्मविश्वास पैदा हो जाता है कि अभी इंसाफ जिंदा है। निचली अदालत में हाशिपुरा के कातिल बरी हो गए थे, लेकिन आज हाईकोर्ट ने कातिलो को सजा और पीड़ितो को इंसाफ देकर अदालत पर लोगों को यकीन को और मजबूत कर दिया है।

हाशिमपुरा नरसंहार: इंसाफ़ मिलने में 31 साल लगे पर सच्चाई की जीत हुई?

Image
वसीम अकरम त्यागी  ये बुज़ुर्ग जमालुद्दीन हैं, इनका बेटा क़मरूद्दीन हाशिमपुरा का सबसे ख़ूबसूरत नौजवान था, 22 मई 1987 को पीएसी के जवानो ने कमरूद्दीन को 42 लोगो के साथ मारकर मौत के घाट उतार दिया, और मुरादनगर नहर में बहा दिया। कईयों की तो लाशें भी नहीं मिलीं। कमरूद्दीन तस्वीर में आज भी जवान है, यह उसकी शादी की तस्वीर है। फ्रेम में जडी यह तस्वीर आज भी नौजवान है मगर साल 2015 में तीस हजारी कोर्ट की सीढियों पर न्याय बूढा होकर वेंटीलेटर पर पहुंच चुका था, जिसे हाईकोर्ट ने आज फिर से जिंदा कर दिया है। हाशिपुरा के पीड़ितो ने अपनी दुःख भरी पहाड़ जैसी जिंदगी को कैसे गुजारा है उसकी कल्पना भी जिस्म के रौंगटे खड़े कर देती है।

हाशिमपुरा नरसंहार: न्यायालय ने इंसाफ देने में बहुत वक़्त लगाया !

Image
वसीम अकरम त्यागी  जिंदगी कैसे गुजरती है जैबुन निशा से पूछिये ? जैबुन निशा कौन ? अरे उज्मा की अम्मी ? उज्मा कौन अरे इकबाल की लड़की। अब आपका सवाल होगा कि इकबाल कौन ? इकबाल है नहीं मार दिया गया ? किसने मारा पीएसी ने ? कब मारा 22 मई 1987 को मुरादनगर नहर पर ले जाकर गोली मार दी । क्यों मारा ? मालूम नहीं ? यह एक भूमिका है जो हाशिमपुरा के दो कमरे के मकान में रहने वाली जैबुन निशा का दर्द लिखने के लिये बनानी पड़ती है। उज्मा उस दिन पैदा हुई थी जिस दिन उसके पिता को पीएसी वाले ले गये थे और फिर पता चला कि उसे मारकर नहर में बहा दिया गया। किसने मारा था सब जानते हैं ? वे हथियार भी मिल गये जिनसे गोली मारी थी वह ट्रक भी मिल गया जिसमें उन्हें लेकर गये थे वे कातिल भी मिल गये जिन्होंने मारा था। मगर कुछ है जो 31 साल बाद मिला, उसकी बहुत जरूरत थी उसकी जरूरत इसलिये भी थी कि क्योंकि उसके मिल जाने से लोगों के अंदर आत्मविश्वास पैदा हो जाता है कि अभी इंसाफ जिंदा है। निचली अदालत में हाशिपुरा के कातिल बरी हो गए थे, लेकिन आज हाईकोर्ट ने कातिलो को सजा और पीड़ितो को इंसाफ देकर अदालत पर लोगों को यकीन को और मजबूत कर

अरे ओ, सांभा..... सरदार ख़ुश हुआ !

Image
सूर्य प्रताप सिंह  ‘दुनिया की सबसे बड़ी' मूर्ति ...राजनीति ने सरदार का क़द 182 मीटर कर दिया, सीना शायद 56 इंच से ज़्यादा ही होगा ... लोग झूँठ बोल रहे हैं कि रु.3,000 करोड़ जैसी भारी सरकारी पूँजी लगी है, असल में रु.2,989 करोड़ मात्र ही तो लगे हैं, तो......... ग़द्दारों(राष्ट्रद्रोहियों) इतना हल्ला-ग़ुल्ला क्यों करते हो... महापुरूषों को याद करना क्या अपराध है? देश को बहुत-२ बधाई ... देश का स्वाभिमान बढ़ा दिया, देश भक्त सरकार। इतने पैसे तो सरकारों के चाय-पानी में ख़र्च हो जाते हैं। इतने कम पैसे से क्या बेरोज़गारी दूर हो सकती थी ... देश रहेगा तो बेरोज़गारी रहेगी ही, पूर्व सरकारों की देन है, ग़रीबी व बेरोज़गारी। नाक के नीचे दिल्ली में प्रदूषण के रहते ‘चैंपियंस ऑफ द अर्थ' बनना क्या कम कमाल है.....२००२ की इतनी मार-काट/मस्सकत के बाद भी ‘सियोल नोबल शांति पुरस्कार’ पाना क्या कोई छोटी बात है ? ग़रीब/बेरोज़गारों के बुलट ट्रेन भी आ रही है..... और क्या चाहिए ? जान लोगे क्या, बच्चे की, नादान कहीं के ? असली लोहे की बनी मूर्ति है....... कोई फ़र्ज़ी डिग्री की तरह फ़र्ज़ी लोहे की थोड़े ही है

नेहरू और पटेल: तो क्या ये मान लिया जाए कि प्रधानसेवक ने कुछ नहीं किया!

Image
नदीम अख्तर  सरदार पटेल देश के गृह मंत्री थे और पंडित नेहरू प्रधानमंत्री। सो सरदार पटेल ने देसी रियासतों को हड़काकर अगर भारतीय संघ में मिलाया तो पीएम होने के नाते इसमें पंडित नेहरू का विजन, उनका मार्गदर्शन, उनकी सहमति, उनका सपोर्ट और उनका बल शामिल था। यानी पंडित नेहरू अगर मार्गदर्शन और सपोर्ट नहीं करते तो गृह मंत्री होने के नाते सरदार पटेल एक इंच भी आगे नहीं बढ़ सकते थे। उस वक़्त पंडित नेहरू का जलवा जलाल ये था कि अगर सरदार पटेल को गृह मंत्री पद से हटा देते तो कांग्रेस पार्टी में कोई चूं भी नहीं करता। देश के मौजूदा प्रधानसेवक का जलवा जलाल तो पंडित नेहरू era के आगे कुछ भी नहीं। पूरा देश एक सुर में उनके आगे नतमस्तक था। सो गृह मंत्री रहते सरदार पटेल ने जो कुछ किया, वो पंडित नेहरू ने ही उनसे करवाया। क्रेडिट नेहरू को पहले जाता है, पटेल को बाद में। पटेल ने तो सिर्फ नेहरू की योजना को कार्यान्वित किया। इसलिए जो भाई लोग नेहरू का नाम भुलाकर पटेल का नाम जप रहे हैं, वो भारी भूल कर रहे हैं। ऐसे तो प्रधानसेवक के राज में इस देश में जो कुछ भी अच्छा-बुरा हुआ, उसका श्रेय सीधे सम्बंधित केंद्रीय मंत्री क

इन योजनाओं के लिए केंद्र सरकार ने पैसा दिया क्या?

Image
नदीम अख्तर मेरी एक बात गांठ बांधकर याद रखिएगा। चाहे किसी भी पार्टी की सरकार हो, हम सरकारें स्कूल,कॉलेज, यूनिवर्सिटी, हॉस्पिटल, बंदरगाह, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट, मेडिकल-इंजीनियरिंग कॉलेज, रिसर्च संस्थान, सड़क, बिजली संयंत्र और देश बनाने के लिए चुनते हैं। हज़ारों करोड़ रुपये खर्च करके मूर्ति बनाने को नहीं। याद रखिये। ये लोकशाही है। यहां ना कोई बादशाह शाहजहां है और ना राजकीय खजाने से अरबों खर्च करके कोई ताजमहल बनाएगा। क्या हुआ केंद्र सरकार द्वारा लागू की गई देश की सबसे बड़ी मेडिकल इंश्योरंस स्कीम आयुष्मान भारत का ??!! क्या हुआ देश में बुलेट ट्रेन का?? क्या हुआ स्मार्ट सिटीज का?? इन योजनाओं के लिए केंद्र सरकार ने पैसा दिया क्या? या सिर्फ योजना के ऐलान के बाद उसे भूल गए??!! मूर्ति बनाने के लिए सरकारों के पास हजारों-अरबों करोड़ रुपया है और जनता की योजनाओं के लिए रोकड़ा नहीं है? जिन किसानों और आदिवादियों कि ज़मीन इसके लिए छीनी, उनको अभी तक मुआवजा भी नहीं दिया। वे विरोध मार्च करने वाले हैं। वाह रे मॉडर्न युग के शाहजहाँ!!! ताजमहल तो फिर भी भारतीय कारीगरों ने बनाया था। देश के लोगों को रोजगार मिल

तिलकधारी महाविद्यालय जौनपुर से वाणिज्य संकाय प्रतिनिधि पद के प्रबल दावेदार संघर्षशील प्रत्याशी __योगेश निषाद उर्फ ( योगी ) को चुने

Image
तिलकधारी महाविद्यालय जौनपुर से वाणिज्य संकाय प्रतिनिधि पद के प्रबल दावेदार संघर्षशील प्रत्याशी __योगेश  निषाद उर्फ ( योगी ) को चु ने

Statue of Unity : इस देश का सबसे बड़ा नेता कौन है ?? महात्मा गांधी या सरदार पटेल ?

Image
नदीम अख्तर  इस देश का सबसे बड़ा नेता कौन है ?? महात्मा गांधी या सरदार पटेल ? इस देश का वो कौन नेता है, जिसकी मूर्ति दुनिया के सभी देशों में सम्मान के साथ लगी है ?? महात्मा गांधी या सरदार पटेल ?? इस देश का वो कौन संत है, जिसे दुनिया ने सत्याग्रह का युगपुरुष माना और जिनसे प्रेरणा लेकर दुनिया के कई देशों के गरीब-पिछड़े लोगों ने अपने मुल्क में हक के लिए आंदोलन छेड़े - महात्मा गांधी या सरदार पटेल ?? इस देश का राष्ट्रपिता कौन है- महात्मा गांधी या सरदार पटेल ??!! इस देश में गुजरात प्रांत ने देश को जो सबसे बड़ी विभूति दी है, वह कौन हैं- महात्मा गांधी या सरदार पटेल ??!! इस देश का वह कौन महात्मा है, जिसने अंतिम सांस तक देश के बंटवारे का विरोध किया और सीने पर गोली खाकर जान दे दी- महात्मा गांधी या सरदार पटेल ??!! महात्मा गांधी ना !! और किसने देश की एकता को छिन्न-भिन्न करते हुए ये कहा था कि अगर शरीर का कोई अंग सड़ जाए तो उसे काट देना चाहिए ? किसने देश विभाजन को मंजूरी दी ??!! सरदार पटेल या महात्मा गांधी ? सरदार पटेल ना !! सो ऊपर बताई गई सूरतों के मद्देनजर इस देश में जनता के हजारों करोड़ रुप

साढ़े चार साल में ही सटिया गए भाजपाई, अगर यकीन नही है तो ये वीडियो देखें

Image
साढ़े चार साल में ही सटिया गए भाजपाई, अगर यकीन नही है तो ये वीडियो देखें

अकेले व्यक्ति का हर जगह शोषण होता है: बनवारीलाल कंछल

Image
दिवाकर तिवारी खीरों (रायबरेली)। उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल की कार्यकारिणी का बुधवार को शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया गया. जिसके मुख्य अतिथि प्रदेश अध्यक्ष बनवारी लाल कंछल और विशिष्ट अतिथि बसंत सिंह बग्गा व विवेक शर्मा रहे। अध्यक्षता दुर्गा बक्स सिंह ने की। इस समारोह में खीरों के व्यापारियों ने प्रदेश अध्यक्ष व उपाध्यक्ष को चांदी का मुकुट पहना कर सम्मानित किया. प्रदेश अध्यक्ष ने सभी नव निर्वाचित पदाधिकारियों को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई गई। बनवारीलाल कंछल ने व्यापारियों को संबोधित करते हुए कहा कि संगठन व एकता में बहुत बड़ा बल होता है. अकेला व्यक्ति हर जगह शोषण का शिकार होता है. संगठन की बदौलत हर व्यापारी शोषण का शिकार नहीं होगा. संगठन को खडा करना और उसे अखण्ड बनाए रखना सबसे बड़ी चुनौती होती है. इसलिए सभी व्यापाती एकजुट होकर संगठन को मजबूती प्रदान करें. बसंत सिंह बग्गा ने व्यापारियों को बताया कि जिन कस्बों या गांवों में व्यापारी संगठित नहीं हैं वहां के व्यापारी प्रशासनिक शोषण का शिकार हो रहे हैं. इसलिए जो व्यापारी संगठन से नहीं जुड़े हैं वह भी संगठन से जुड़े. संगठन

कोतवाल ने समाजसेवी को गालियों से नवाज कर दी झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी | SULTANPUR NEWS

Image
तुफैल इदरीसी सुल्तानपुर। आज जिले के पुलिस विभाग के आला कमान पुलिस अधीक्षक से मिलकर समाज सेवी दिलीप कुमार सिंह आजाद सेवा समिति के उपाध्यक्ष ने  नगर कोतवाल नंद कुमार तिवारी द्वारा किये गए अभद्र व्यवहार के सम्बंध में लिखित शिकायत की है। पुरा मामला अपनी जमीन की पैमाइश हेतु दिनांक 28 अक्टूबर को शाम 06 बजे नंद कुमार तिवारी प्रभारी निरीक्षक के पास गया था, जहां प्रभारी निरीक्षक द्वारा समाजसेवी को अपमानित करते हुए माँ बहन की गालियों से नवाजा गया और धमकी दी गयी कि बहुत बड़े समाजसेवी बनते हो किसी फर्जी मुकदमें में फंसा कर तुम्हारा जीवन बर्बाद कर दूँगा। जबकि समाज सेवी द्वारा जिले के जरूरत मंदों की मदद एवं जान बचाने हेतु हजारों बार रक्तदान भी किया जा चुका है। इसके साथ पुलिस विभाग द्वारा प्रशस्ति पत्र भी दिया जा चुका है। उपरोक्त की पुलिस अधीक्षक को आवेदन पत्र के माध्यम से अवगत कराया है। समाजसेवी ने पुलिस अधीक्षक से न्याय की गुहार लगाई है। समाजसेवी ने  यह संदेह व्यक्त किया है कि मेरे प्रकरण में नंद कुमार तिवारी विपक्षियों से दुरभि संधि कर मुझे झूठे मुकदमे में फसा सकते है। समाजसेवी ने  पुलिस की

रायबरेली पुलिस ने 25 हज़ार रुपये के इनामी बदमाश को किया गिरफ्तार, 10 किलो गांजा लक्जरी कार बरामद

Image
महताब खान रायबरेली। जिले में सदर कोतवाली पुलिस व स्वाट टीम को उस समय एक शातिर को गिरफ्तार करने में सफलता हाथ लगी, जब वह कहीं भागने की फिराक में था। पुलिस के मुताबिक, पकड़े गए युवक पर 25 हजार रुपये का इनाम भी घोषित था और उस पर कई मुकदमे भी पंजीकृत थे। पकड़े गए आरोपी के पास से 10 किलो गांजा व अन्य सामान भी पुलिस ने बरामद किया है। पुलिस अधीक्षक कार्यालय स्थित किरण हाल में पत्रकारों को जानकारी देते हुए अपर पुलिस अधीक्षक शशिशेखर सिंह ने बताया कि पकड़े गए युवक अजय कुमार जायसवाल डलमऊ थाना क्षेत्र का निवासी था और वहीं पर अपने घर में अवैध शराब का धंधा करता था। कुछ सप्ताह पूर्व जब डलमऊ में अवैध शराब फैक्ट्री के भंडाफोड़ हुआ तो अजय फरार हो गया था। उसके बाद से पुलिस ने उस पर पचीस हजार का इनाम घोषित कर दिया था। देर रात जब वह गांजा लेकर कहीं जा रहा था तो पुलिस ने उसे 10 किलो गांजे व एक लक्जरी कार के साथ दबोच लिया। अपर पुलिस अधीक्षक शशी शेखर सिंह की मानें तो पकड़ा गया इनामी अपराधी अजय कुमार जायसवाल पूर्व में भी कई बार जेल जा चुका है और उस पर पहले से कई आपराधिक मामले पंजीकृत हैं। इस बार पुलि

एक नाबालिग लड़की के साथ संदिग्ध हालत में पकड़े गए चार लड़के | SULTANPUR NEWS

Image
सुल्तानपुर। जयसिंहपुर थाना क्षेत्र के गांव दौलतपुर स्थित टॉवर में एक नाबालिग लड़की के साथ चार लड़कों को ग्रामीणों ने संदिग्ध हालत में पकड़ लिया। ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने प्रेमी युगल को हिरासत में ले लिया। मिली जानकारी के मुताबिक अमेठी जिले के जगदीशपुर से प्रेमी युगल घर से भागकर सुल्तानपुर जिले के जयसिंहपुर थाना क्षेत्र के गांव दौलतपुर स्थित टॉवर में रह रहे थे। आज ग्रामीणों ने लड़की को चार नाबालिग लड़की को चार लड़कों के साथ संदिग्ध हालत में पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। लड़की को उसके परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया है और आरोपी युवक को पुलिस ने धारा 151 के तहत अभियोग पंजीकृत कर जेल भेजने की कार्रवाई की है।

रायबरेली: लौह पुरुष की जयंती पर जिला स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता में जीत हासिल करने वाले बच्चों को किया गया सम्मानित।। RAEBARELI NEWS ।।

Image
शिवाकांत अवस्थी रायबरेली: एकता दिवस के अवसर पर प्राथमिक विद्यालय नहरिया में एकता सन्देश,सरदार पटेल के जीवन के व्यक्तित्व,कृतित्व और राष्ट्रीय एकता में उनके अमूल्य योगदान पर प्रकाश डालते हुए अतिथियों ने जिला खेल कूद प्रतियोगिताओं में प्राथमिक स्तर की बालक वर्ग की खो खो और कबड्डी की उपविजेता टीम को पुरस्कार वितरण किया गया।  200 मीटर बालिका वर्ग में श्रीकांती ने कांस्य पदक जीता।एवं प्राथमिक स्तर की लंम्बी कूद में कांस्य पदक विजेता रही।        आपको बता दें कि, इस मौके पर जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि रविराज सिंह, ग्राम प्रधान मझिगवां शत्रोहन सोनी, ब्लॉक अध्यक्ष राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ मधुकर सिंह, संगठन मंत्री एवं टीम के कोच आशीष प्रताप, संयुक्त महामंत्री पंकज सिंह, विद्यालय के प्रधानाध्यापक अशोक कुमार एवं अन्य अध्यापकों में श्रीकांत यादव, गुलाम मुस्तफा, हरिहरशरण, राम सरन, अराधना बाजपेयी, सितारा बेगम, अर्चना सिंह, शंकर बक्श सिंह एवं एस एम सी अध्यक्ष संजू कुमार, सदस्यगण,अभिभावक आदि उपस्थित रहे।

पिस्टल के साथ ब्लॉक प्रमुख ने किया मंच पर वरुण गाँधी का स्वागत...

Image
तुफैल इदरीसी सुल्तानपुर। अपने रसूख के चलते भाजपा के छूटभईया नेता मनबढ़ हो चले हैं। उनको पार्टी के उसूलों और पार्टी के अनुशासन का तनिक भी ख्याल नहीं है। ऐसा ही एक मामला सुल्तानपुर जिले में देखने को मिला। जिले के सांसद वरुण गाँधी अपने एक दिवसीय दौरे पर सुल्तानपुर में हैं और मुख्यालय स्थित तिकोनिया पार्क में 2000 गरीबों को दीपावली कंबल उपहार में बाटें, तो वहीं अपने रसूख के चलते भाजपा के छूटभईया नेता पार्टी की कर्तव्य निष्ठा और पार्टी के अनुशासन पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं, जी हां तस्वीरों में आप साफ देख सकते हैं कि किस तरह से सांसद वरुण गांधी का स्वागत मंच पर किया जा रहा है। कमर में पिस्टल लगाए ये ये कोई और नही बल्कि कादीपुर के भाजपा ब्लाक प्रमुख श्रवण कुमार मिश्रा है जिनको पार्टी में अनुशासन की कोई फिक्र नहीं है। बड़ा सवाल उठता है तो क्या अब..2019 में ऐसे ही छूटभईया नेताओं के दम पर चुनाव लड़ेगी भाजपा..?इन्ही नेताओं के दम पर भाजपा का होगा बेड़ा पार..ये तो भविष्य के गर्त में छिपा हुआ है।

रायबरेली में युवक की पीट पीटकर कर हत्या, गुस्साए लोगों की थाने का घेराव

Image
अमन पठान/महताब खान रायबरेली। नगर कोतवाली क्षेत्र के चंपा देवी पुल के पास एक युवक बेहोशी की हालत में मिला। जिसे परिजन उपचार के लिए जिला अस्पताल लेकर पहुंचे जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने मामले में रिपोर्ट दर्ज करने में टालमटोल की तो आक्रोशित लोगों ने थाने का घेराव कर लिया। इसके बाद पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच पड़ताल शुरू की। मिली जानकारी के मुताबिक नगर कोतवाली क्षेत्र के रायपुर निवासी अनिल सोनकर पुत्र रमेश सोनकर बीती रात अपने दो मित्रों को छोड़ने गया था। इसी दौरान अनिल बेहोशी की हालत में चंपा देवी पुल के पास मिला। सूचना पर परिजन मौके पर पहुंचे और उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने इसे मृत घोषित कर दिया। परिजनों ने दो लोगों पर हत्या का आरोप लगाया है। मामले में रिपोर्ट दर्ज करवाने के लिए परिजनों को प्रदर्शन करना पड़ा। आपको बता दें कि अनिल सब्जी मंडी में सब्जी बेचकर अपने परिवार का भरण पोषण करता था। अनिल की पीट पीटकर हत्या कर दिए जाने का कारण स्पष्ट नही हो पाया है। पुलिस ने हत्या के मामले में रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच पड़ताल

रामराज वाले उत्तर प्रदेश में गल्ला व्यापारी को पीट पीटकर मार डाला | RAEBARELI NEWS

Image
रामराज वाले उत्तर प्रदेश में गल्ला व्यापारी को पीट पीटकर मार डाला | RAEBARELI NEWS

इस नेता के सामने रंग बदलने की फितरत में गिरगिट भी फेल | RAEBARELI NEWS

Image
इस नेता के सामने रंग बदलने की फितरत में गिरगिट भी फेल | RAEBARELI NEWS

रायबरेली में लगे 'देश का चौकीदार ही चोर है' के पोस्टर

Image

56 साल से इस ग्राम पंचायत में जनता ने नही चुना दूसरा ग्राम प्रधान | RAEBARELI NEWS

Image

रायबरेली ने सरदार वल्लभ पटेल की जयंती पर भाजपाइयों ने लगाई दौड़

Image
रायबरेली ने सरदार वल्लभ पटेल की जयंती पर भाजपाइयों ने लगाई दौड़

रायबरेली में लगे 'देश का चौकीदार ही चोर है' के पोस्टर

Image
उत्तर प्रदेश के रायबरेली मे पीएम मोदी के खिलाफ जगह जगह पोस्टर लगाए गए। जिसमें उनके खिलाफ टिप्पणी की गई है। पोस्टर में लिखा गया है कि देश का चौकीदार ही चोर है। जानकारी के अनुसार ये पोस्टर जगह जगह देखे जा सकतें है। जिसमे चौकीदार ही चोर है छपवाया गया है। जानकारी के लिये आपको बता दें कि अभी हाल ही मे प्रियंका गांधी लापता के पोस्टर से रायबरेली का सियासी पारा गरमाया था। अब देश का चौकीदार ही चोर के पोस्टर से पूरी रायबरेली पटी हुई है। पोस्टर के नीचे स्वराज अभियान का नाम भी है।

LIVE SURVEY: आप मारहरा के किस विधायक के कार्यों से संतुष्ट हुए और वर्तमान विधायक के कार्य कैसे लगे?

Image
अमन पठान  एटा: कभी कभी यह जानना भी जरुरी होता है कि जनता ने जिस नेता को अपनी रहनुमाई के लिए चुनकर विधानसभा भेजा है क्या वह वास्तव में जनता की उम्मीदों पर खरा उतर रहा है या नही? इसलिए केयर ऑफ़ मीडिया ने लाइव सर्वे की शुरुआत की है. इस सर्वे में आप अपना अमूल्य वोट देकर हमें बता सकते हैं कि आप निवर्तमान विधायक के कार्यों से संतुष्ट थे या वर्तमान विधायक के जनहित में किये जा रहे कार्यों से आप प्रभावित हैं. आज हम एटा जिले की मारहरा विधानसभा के पूर्व और वर्तमान विधायक के कार्यों की समीक्षा करने के लिए लाइव सर्वे कर रहे हैं. पूर्व सपा विधायक अमित गौरव यादव उर्फ़ टीटू को विरासत में दो बार विधायक बनने का मौका मिला. अमित गौरव यादव अपने पिता स्व. अनिल कुमार सिंह यादव के मान सम्मान और उनके द्वारा शुरू की गईं परम्परों को आज भी कायम रखे हुए हैं. अमित गौरव यादव को वीरेंद्र सिंह लोधी ने 2017 के विधानसभा चुनाव में मात देकर भाजपा की जीत का परचम लहराया. आपको बता दें कि वर्तमान भाजपा विधायक वीरेन्द्र सिंह लोधी दो बार उपविजेता रहे और तीसरे बार उन्हें जीत का स्वाद चखने का मौका मिला. जनता ने वीरेंद्र सिंह

रायबरेली: सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर भाजपाइयों ने आयोजित किया रन फॉर यूनिटी कार्यक्रम।। RAEBARELI NEWS ।।

Image
शिवाकांत अवस्थी रायबरेली: लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल ने इस देश को आजादी दिलाने में अहम भूमिका अदा की थी, जिसके चलते सरदार बल्लभ भाई पटेल जैसे लोगों ने देश को आजाद कराने में अपना बलिदानी तक दिया तथा खून भी न्योछावर किया। इसलिए आज पूरे देश की जनता और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती धूमधाम से मना रहे हैं। लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई  पटेल को महराजगंज क्षेत्र ही नहीं बल्कि कि पूरे देश में सदियों सदियों तक जाना जाएगा। यह उद्गार आज महराजगंज विकासखंड सभागार में लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती के अवसर पर पूरे देश में आयोजित रन फॉर यूनिटी के कार्यक्रम के अवसर पर भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता तथा रायबरेली जिले के लोक प्रिय नेता एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह उपस्थित हजारों की संख्या में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए व्यक्त कर रहे थे।     आपको बता दें कि, इस कार्यक्रम में उपस्थित बछरावां विधानसभा विधायक रामनरेश रावत ने उपस्थित जन सैलाब को संबोधित करते हुए कहा कि, लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल इस देश को एक सूत्र में पिरो कर देश को आजादी

सच की हुई जीत झूठ हुआ धराशाई कांग्रेस जिला अध्यक्ष मनोज त्रिवेदी को कोर्ट ने किया बाइज्जत बरी

Image
पंकज पाराशर केंद्रीय मंत्री उमा भारती पर हुए हमले कांड का हुआ फैसला छतरपुर: बुंदेलखंड के चर्चित 20 साल पुराने मामले का हुआ फैसला, वर्तमान मे केंद्रीय मंत्री एवं मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती पर हुए जानलेवा हमले के 11 आरोपियों को न्यायालय ने किया बरी, 8 फरवरी 1998 को बमीठा थाना क्षेत्र के चंद्रनगर के समीप उनकी गाड़ी पर चली थी गोली हुआ था पथराव, कांग्रेस जिला अध्यक्ष मनोज त्रिवेदी, महामंत्री लखन लाल दुबे, जिला पंचायत सदस्य गोविंद सिंह सहित एक दर्जन लोग थे मामले में आरोपी,तृतीय अपर सत्र न्यायाधीश जितेंद्र कुमार शर्मा की अदालत ने सुनाया फैसला, फैसला सुनते ही सभी आरोपियों के चेहरे खिल उठे छतरपुर जिला कांग्रेस अध्यक्ष मनोज त्रिवेदी ने कहा कि आखिर सच की जीत हुई मेरा नाम राजनैतिक षड्यंत्र के तहत झूठा लिखाया गया था कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हुए न्याय व्यवस्था पर गहरी आस्था प्रकट की।

देश की एकता अखंडता के लिये सिरदर्द बना रामजन्मभूमि बाबरी विवाद और सुप्रीम कोर्ट की लटकाऊ सुनवाई नीति

Image
      आजादी के बाद से देश की कौमी एकता अखंडता के लिये सिरदर्द बना रामजन्मभूमि बाबरी मस्जिद का विवाद लगातार राजनैतिक महत्वाकांक्षा का शिकार बना विकास में बाधक बना हुआ है और करोड़ों रुपये सरकारी खजाने का सिर्फ इसकी सुरक्षा के नाम पर हर महीने बरबाद हो रहा है।बीच बीच में हुये घटनाक्रमों ने इस विवाद को राजनैतिक रूप देकर इसे अन्तर्राष्ट्रीय मुद्दा बनाकर कट्टरता के नाम बेगुनाहों का खून बहाने का मौका दे दिया गया है। इस विवाद का मुकदमा निचली अदालत से देश की सर्वोच्च अदालत तक पहुंच गया है और हाईकोर्ट के फैसले के बाद अब यह मामला पिछले कई वर्षों से सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन चल रहा है।सुप्रीम कोर्ट इस मामले को जल्दी निपटाने के मूड में नहीं लगता है इसे लगातार टाला जा रहा है क्योंकि अगर वह चाहता तो इस मामले को अबतक समाप्त करके अपना फैसला सुना सकता था लेकिन ऐसा नहीं कर सका है। दो महीने पहले तत्कालीन प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्र ने इस विवाद के रोजाना निपटारे के लिये अपनी अध्यक्षता में एक विशेष खंडपीठ का गठन करके रोजाना सुनवाई करके यथाशीघ्र मामले को निपटाने की दिशा में महत्वपूर्ण फैसला करके सुनवाई क

रेलवे की जमीन को कब्जा मुक्त कराने गई टीम से भूमाफियाओं ने की बदसलूकी | SULTANPUR NEWS

Image
यूपी के सुल्तानपुर जिले में चोरी और सीना जोरी का एक मामला प्रकाश में आया है। रेलवे की जमीन को कब्जा मुक्त कराने गई रेलवे और राजस्व विभाग की टीम भूमाफियाओं के सामने नतमस्तक नजर आई। भूमाफियाओं ने अधिकारियों के साथ बदसलूकी की उसके बाद अधिकारी मीडिया के सवालों से बचते नजर आए। सुल्तानपुर फ़ैजाबाद रेल लाइन के पास बढ़ैयावीर मोहल्ले में कुछ लोगों ने रेलवे की सरकारी जमीन पर कब्ज़ा कर मकान बनवा लिए हैं। समाजसेवी अमर बहादुर ने इस मामले में मुख्यमंत्री और रेलवे के उच्चाधिकारियों से शिकायत की। आज डीएम के निर्देशन में राजस्व और रेलवे की टीम मौके पर पहुंची तो अवैध कब्जेदारों ने सरकारी कर्मचारियों से अभद्रता कर दी। इसके बाद अधिकारी वापस लौट आये और अभियान चलाकर जमीन को कब्जा मुक्त कराने की बात कही लेकिन कैमरे पर कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया।

शहर से गांव तक गूंजी या हुसैन की सदा, चेहल्लुम पर गमगीन नजर आए अकीदतमंद

Image
सुल्तानपुर जिले के लंभुआ क्षेत्र के गांव बरेहता में या हुसैन की सदायें बुलंद हुईं। गमगीन मौहाल में अकीदतमंदों ने चेहल्लुम की रश्म को अदा किया। कर्बला में अकीदतमंदों ने नोहे पढ़े और मातम किया। कर्बला में मातम देखने के लिए लोगों की अपार भीड़ उमड़ी।

रायबरेली में लड़की के साथ गलत काम कर वीडियो किया वायरल

Image
रायबरेली जिले के डीह में एक नाबालिग लड़की के साथ तीन युवकों ने बदसलूकी, छेड़छाड़ और अश्लील हरकतें की और पूरे घटनाक्रम का वीडियो भी बना लिया। लड़की को ब्लैकमेल करने के इरादे से उसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया। वीडियो वायरल होने के बाद लड़की के परिजनों ने आरोपियों के खिलाफ लिखित तहरीर देकर पुलिस से कार्रवाई की मांग की तो थानाध्यक्ष ने मामले में जांच करने के बाद कार्रवाई करने की बात कही है।

श्रावस्ती:सपा नेता पर दर्ज हुए मामले में प्रदेश के पूर्व मंत्री के नेतृत्व में सपा का एक प्रतिनिधिमंडल डीएम व एसपी से मिलकर निष्पक्ष जांच की मांग की है।

Image
◆सपा कार्यकताओं का उत्पीड़न समाजवादी पार्टी अब कतई बर्दाश्त नही करेगी, (रिपोर्ट:इसरार अहमद केयर ऑफ मीडिया न्यूज़) श्रावस्ती:में दो दिन पूर्व घटित हुई घटना में सपा अल्पसंख्यक मोर्चा के जिलाध्यक्ष समेत चार लोगो पर दर्ज हुए मामले को लेकर प्रदेश के पूर्व मंत्री व सपा के दिग्गज नेता एस.पी.यादव के नेतृत्व में सपा का एक प्रतिनिधि मंडल जिले के डीएम व एसपी से मिलकर इस घटना की उच्चस्तरीय अधिकारियों द्वारा निष्पक्ष जांच कराने की माँग की है। दरअसल दो दिन पहले यूपी के श्रावस्ती जिले के थाना सिरसिया क्षेत्र के लालपुर कुसमहवा गांव के निवासी सत्य नरायन तिवारी पुत्र कृष्ण कुमार तिवारी सिरसिया बाजार से वापस घर लौटते समय रास्ते मे घायल हो गए थे,घटना के उपरांत पीड़ित युवक के भाई शिवशंकर तिवारी ने सपा अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष हाजी दददन खान सहित चार लोगों पर अपने भाई पर किये गए प्राण घातक हमले का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर देकर मामला दर्ज कराया था। सपा नेता हाजी दददन खान सहित चार लोगों पर लगे आरोपो के सम्बंध में प्रदेश के पूर्व मंत्री व सपा के दिग्गज नेता एस.पी.यादव के नेतृत्व में पू

भाजपा नेताओं के इशारे पर जानलेवा हमले के आरोप में फंसे सपा नेता दद्दन खां | SHRAVASTI NEWS

Image
यूपी के श्रावस्ती में सपा नेता दद्दन खां सहित चार लोगों पर एक युवक ने जानलेवा हमला करने का आरोप लगाया है। सपा नेता के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने के बाद श्रावस्ती की सियासी सरगर्मियां तेज हो गई हैं। समाजवादी अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष दद्दन खां पर दर्ज हुए मुकदमे को निराधार बताते हुए पूर्व मंत्री एसपी यादव, भिनगा विधायक इंद्राणी वर्मा, पूर्व विधायक श्रावस्ती हाजी रमजान, सपा जिलाध्यक्ष जितेंद्र यादव ने डीएम और एसपी से मुलाकात कर मामले में निष्पक्ष जांच कराये जाने की मांग की है। आरोपी सपा नेता दद्दन खां ने खुद को बेकुसूर बताते हुए मामले को राजनीतिक षड्यंत्र करार दिया है और भाजपा नेताओं के इशारे पर झूठ मुकदमा दर्ज कराए जाने की बात कही है। आइये देखते हैं पूरी रिपोर्ट

रायबरेली में डॉक्टरों की लापरवाही से हुई गर्भवती महिला की मौत, फिर हुआ कुछ ऐसा

Image
रायबरेली के महिला जिला अस्पताल में इलाज के दौरान गर्भवती महिला की मौत हो जाने के बाद परिजनों ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाकर जमकर हंगामा किया। सलोन थाना क्षेत्र के गांव तिवारीपुर निवासी सतीश ने अपनी पत्नी मालती को उपचार के लिए महिला जिला अस्पताल में भर्ती कराया था। उपचार के दौरान मालती की मौत हो जाने पर मृतका के परिजन आक्रोशित हो गए और उन्होंने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। जानकारी मिलने पर  पुलिस और सिटी मजिस्ट्रेट मौके पर पहुंचे। अधिकारियों ने कार्रवाई का आश्वासन देकर आक्रोशित लोगों को शांत किया।

श्रावस्ती:जनपद के कलेक्ट्रेट सभागार में सम्भधित अधिकारियों को सूचना का अधिकार अधिनियम के सम्बन्ध में दिया गया प्रशिक्षण।

Image
इसरार अहमद केयर ऑफ मीडिया न्यूज़, श्रावस्ती:जिले के कलेक्ट्रेट सभागार में जनपदस्तरीय कार्यालयों में नियुक्त जनसूचना अधिकारियों/प्रथम अपीलीय प्राधिकारियों को सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 एवं उ0प्र0 सूचना का अधिकार नियमावली 2015 के प्राविधानोें का प्रशिक्षण राज्य सूचना आयुक्त स्वदेश कुमार की अध्यक्षता में डा0 विपिन कुमार अग्निहोत्री, स्टेट रिसोर्स पर्सन के अधिकारी के माध्यम से दिया गया।       राज्य सूचना आयुक्त ने कहा कि सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 के तहत सूचना प्राप्त करने की प्रक्रिया को प्रारम्भ से अन्त तक निर्धारित करने हेतु अभी तक कोई समग्र नियमावली नहीं बनायी गई थी जिसके अभाव में आवेदनों के निस्तारण में विलम्ब, राज्य सूचना आयोग में अत्यधिक अपील, अधिनियम के दुरूपयोग की संभावना को बढ़ावा आदि थी जिसके तहत उ0प्र0 सूचना का अधिकार नियमावली 2015 के तहत सूचना प्रकट करने की प्रक्रिया को सुगम, नियमावली अधिनियम के तहत सूचना पाप्त करने और आवेदनों के निस्तारण की पक्रिया को प्रारम्भ से अन्त तक चरणबद्ध व तर्क संगत रूप से स्थापित करने का प्राविधान है।       राज्य सूचना आयुक्त ने कहा कि