चे ग्वेरा ने महज 100 लड़ाकों के दम पर क्यूबा को दिलाई थी आजादी - CARE OF MEDIA

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

Friday, June 14, 2019

चे ग्वेरा ने महज 100 लड़ाकों के दम पर क्यूबा को दिलाई थी आजादी


डॉक्टर से क्रांतिकारी बने चे ग्वेरा को अपनी मौत के 52 साल बाद भी क्यूबा के लोगों के बीच जीवित हैं। इसकी इकलौती वजह यह है कि उन्होंने क्यूबा को तानाशाही से आजाद कराया था।
चे ग्वेरा ने फिदेल के साथ मिलकर महज 100  गुरिल्ला लड़ाकों की फौज की बदौलत क्यूबा से तानाशाह बतिस्ता के शासन को उखाड़ फेंका था। इससे अमेरिका को बड़ा झटका लगा था।
बता दें कि तानाशाह बतिस्ता के शासन पीछे सीआईए का हाथ था। साल 1955 में यानी 27 साल की उम्र में चे ग्वेरा की पहली मुलाकात फिदेल कास्त्रो से मैक्सिको में तब हुई थी वे वहां अपने छोटे भाई राउल के साथ गौरिल्ला युद्ध की ट्रेनिंग लेने के लिए गए थे।

Post Bottom Ad

MAIN MENU