विकास दुबे का एनकाउंटर इसलिए जरुरी था?


गिरीश मालवीय 
पुलिस एनकाउंटर में मारे गए विकास दुबे के खजांची कहे जाने वाले  जयकांत बाजपेई ने जिन दो होटलों में पैसा लगाया है, वे भाजपा नेताओं के हैं जिन तीन लग्जरी लावारिस कारो को जब्त किया गया था
उसके बारे में पुलिस की जांच में पता चला है कि ऑडी कार भाजयुमो के प्रदेश मंत्री प्रमोद विश्वकर्मा के नाम है। फॉर्च्यूनर राहुल सिंह व वरना कारोबारी कपिल सिंह के नाम है। इन तीनों कारों में जय का पैसा लगा था
विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे ने भी पुलिस पर सनसनीखेज आरोप लगाए हैं। ऋचा ने कहा कि पुलिसकर्मी बिकरू में लंच और डिनर करने आते थे और रात में रुकते भी थे। ऋचा ने कहा कि पुलिस ने उसके पति का इस्तेमाल किया और खत्म कर दिया।
अगर विकास दुबे ज़िंदा रहता तो सबसे बड़ा खतरा वर्तमान सरकार को ही था वो सत्ताधारी नेताओ और पुलिस की मिलीभगत से वाकिफ था सारी पोल पट्टी जानता था इसलिए एनकाउंटर बहुत जरूरी था

Post a Comment

0 Comments