अमिताभ बच्चन के फैक्ट चेक का असली फैक्ट चेक


गिरीश मालवीय 
'न्यूज़ मीडिया में 'फैक्ट चेक' के नाम पर नया गोरख धंधा चालू हो गया है फैक्ट चेक जैसी गतिविधि को फेक न्यूज' या झूठी खबरों पर लगाम लगाने की नीयत से शुरू किया गया था लेकिन जैसे समाज की भलाई के लिए बनाया गया हर टूल ताकतवर के हाथ की कठपुतली बन कर रह जाता है वैसे ही फैक्ट चेक के साथ भी हुआ है
फैक्ट चेक अब कारपोरेट ओर सरकार के हर गलत काम को प्रोटेक्ट करने का हथियार बन गया है अमिताभ बच्चन नानावटी हॉस्पिटल में भर्ती हुए और सोशल मिडीया पर एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें वह नानावटी हॉस्पिटल के डॉक्टरों ओर स्टाफ का धन्यवाद देते दिख रहे है..........
सोशल मीडिया पर इस अमिताभ के इस वीडियो पर लोगो की कड़ी प्रतिक्रिया सामने आई लोगो ने लिखा कि अमिताभ को हॉस्पिटल में भर्ती होने की कोई जरूरत नही थी क्योंकि उनके पास बड़े बड़े बंगले है आइसोलेट होने के लिए ओर उन्हें इतनी सी बात के लिए नानावटी हॉस्पिटल को धन्यवाद देने की भी कोई जरूरत नही थी.......किसी व्यक्ति ने पोस्ट में यह भी लिखा  कि नानावटी हॉस्पिटल को चलाने वाली कम्पनी में अमिताभ डायरेक्टर के पद पर है
अब यहाँ फैक्ट चेक करने वाली बड़ी बड़ी वेबसाइट को अवसर नजर आ गया........
आपको यहाँ ध्यान यह रखना होगा कि मूल रूप में लोग इस बात की आलोचना कर रहे थे कि कोरोना काल मे अमिताभ एक प्राइवेट हॉस्पिटल जो महंगा इलाज देने को मुम्बई में कुख्यात है उसका प्रमोशन क्यो कर रहे हैं......
दरअसल अभिनेता ओर खिलाड़ी अब फिल्मों  ओर खेल से इतना नही कमाते जितना इस तरह के ब्राण्ड प्रमोशन से कमा रहे हैं क्योंकि पब्लिक में उनकी छवि एक हीरो टाइप की है इसलिए ब्राण्ड प्रमोशन वाली कंपनियां उन्हें अब सोशल मीडिया के जरिए अपने ब्राण्ड को प्रमोट करने का कांट्रेक्ट देती है
पिछले दिनों अजय देवगन अपने ट्विटर हैंडल के जरिए
एक इम्युनिटी बूस्टर सप्लीमेंट का प्रचार कर रहे थे जाहिर है कि मोटी रकम लेकर ही वह इसका प्रचार करने को राजी हो गए थे सोशल मीडिया पर इस बात पर उनके खूब मजे लिए गये कि विमल गुटखे का प्रचार करने वाला इम्युनिटी बूस्टर का कैसे प्रचार कर रहे है ? ऐसे ही शाहिद कपूर भी एक बिल्डर्स के प्रोजेक्ट का प्रमोशन करते ट्विटर पर देखे गए हैं
साफ है कि अमिताभ बच्चन कर कोरोना पॉजिटिव होने ओर नानावटी हॉस्पिटल में भर्ती होने के बाद उसके लिए ऐसा प्रमोशनल वीडियो का प्रचार एक बेहद गंभीर मुद्दा था जिसकी सही आलोचना हो रही थी
ऐसे में पीआर एजेंसियों द्वारा फैक्ट चेक करने वाले संस्थानों को आगे किया गया उन्होंने अपनी बड़ी अक्ल लगाते हुए यह सिद्ध किया कि यह वीडियो पिछले दो तीन दिन में शूट नही किया गया है बल्कि यह 23 अप्रैल के आसपास शूट किया गया था ...........ओर इस आधार पर इस वीडियो को उन्होंने फेक ओर भ्रामक वीडियो बता दिया कुछ साईट ने यह भी बताया कि नानावटी हॉस्पिटल चलाने वाली कम्पनी को कोई सीधा रिश्ता अमिताभ से नही है इस आधार पर ऐसी पोस्ट झूठ है
जबकि मुद्दा यह था कि अमिताभ नानावटी हॉस्पिटल का प्रमोशन क्यो कर रहे जबकि फैक्ट चेक में मुद्दा इस बात को बनाया गया कि वीडियो बनाने की टाइमिंग क्या है और इसी आधार पर ऐसे झूठ बता दिया गया ........
कभी फेक न्यूज़ को एक्सपोज करने वाले फैक्ट चैक की आज असलियत यह है कि दक्षिण पंथी  सरकारो द्वारा ओर बिग कारपोरेट लॉबी द्वारा चलाया गया एक प्रायोजित कार्यक्रम बन कर रहा गया है

Comments

Popular posts from this blog

Bollywood Celebrities Phone Numbers | Actors, Actresses, Directors Personal Mobile Numbers & Whatsapp Numbers

जौनपुर: मुंगराबादशाहपुर के BJP चेयरमैन ने युवती के साथ कई महीने तक किया बलात्कार, देखें वायरल वीडियो

किन्नर बोले- अगर BJP से सरकार नहीं चल रही है तो हमें दे दे कुर्सी, हम सरकार चलाकर दिखा देंगे