बीजेपी नेता राघव जी ने अपने नौकर के साथ ही बनाये शारीरिक संबंध


राघवजी ने 2013 में अपने सरकारी आवास में रहने वाले युवक के साथ अप्राकृतिक सेक्स किया था. इस घटना की सीडी सामने आने के बाद प्रदेश की राजनीति में भूचाल आ गया था. सीडी सामने आने के बाद राघवजी को इस्तीफा देना पड़ा था. मामले के उजागर होने के बाद राघवजी के साथ शिवराज सरकार की भी खूब किरकिरी हुई थी.

यहां तक कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर कार्रवाई में देरी को लेकर उंगलियां उठी थी. बाद में शिवराज ने उनसे इस्तीफा लेकर विवाद से किनारा कर लिया था. राघवजी ने गिरफ्तारी से भी बचने की खूब जुगत लगाई, लेकिन कानून के सामने आखिरकार राघवजी को झुकना पड़ा था और भोपाल के कोहेफिजा से उनकी गिरफ्तारी हुई थी.

जिस थाने का किया था उद्घाटन उसी में बने बंदी

मामला दर्ज होने के बाद राघवजी फरार हो गए। पुलिस उनकी तलाश में छापे मार रही थी। नौ जुलाई को पुलिस  भोपाल के कोहेफिजा इलाके के एक फ्लैट पर पहुंची। इस पर बाहर से ताला लगा था। ताला तोड़ा तो राघवजी अंदर छिपे हुए मिले। उन्हें गिरफ्तार कर हबीबगंज मेट्रो थाने लाया गया। खास बात यह कि इस थाने का कुछ दिन पहले स्वयं राघवजी ने ही उद्घाटन किया था। कोर्ट ने उन्हें 22 जुलाई तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

सियासी घमासान यहीं नहीं थमा। संगठन ने राघवजी को पार्टी से निष्कासित कर दिया। शिवशंकर पटेरिया नामक एक नेता ने दावा किया कि पार्टी में व्याप्त गंदगी को दूर करने के लिए उन्होंने ही यह सीडी बनवाई है। ऐसी 22 सीडी और हैं। इसके बाद उन्हें भी पार्टी से निष्कासित कर दिया गया। कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि राघवजी के खिलाफ साजिश हुई है तो प्रभात झा बोले कि यह मानवीय कमजोरी है। किसी से भी ऐसा हो सकता है। दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया – बच्चा-बच्चा राम का, राघवजी के काम का। इस पर उनके खिलाफ भावनाओं को ठेस पहुंचाने का प्रकरण दर्ज कर लिया गया। 

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post
loading...