राहु ग्रह की शान्ति के उपाय


यदि जन्म कुण्डली में राहु अशुभ फल दे रहा हो तो निम्न उपाय करने से लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

वैदिक मंत्र-ॐकयानश्चित्रऽआभुवदूती सदावृधः सखा कया शचिष्ठया वृता।

पौराणिक मंत्र- ॐ अर्धकायं महावीर्यं चन्द्रादित्य विमर्दनम्। सिंहिका गर्भ सम्भूतं तं राहुं प्रणमाम्यहम्।।

तंत्रोक्त राहु मंत्र- ॐ भ्रां भ्रीं भ्रौं सः राहवे नमः।

राहु गायत्री मंत्र – ॐ शिरो रूपाय विद्महे अमृतेशाय धीमहि तन्नो राहुः प्रचोदयात्।।

जप संख्या- 18000 हजार

रत्न- राहु ग्रह की शांति हेतु गोमेद रत्न धारण किया जाता है राहु दान सामग्री- सप्तधान्य, गोमेद, सीसा, काला घोड़ा, तिल, चांदी का सर्प, उड़द, कम्बल, नारियल, काला या नीला

किसी भी प्रकार की समस्या समाधान के लिए आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ) जी से सीधे संपर्क करें = 9131366453

Post a Comment

0 Comments