मध्य प्रदेश: BJP सांसद के पैरों में रोते हुए गिरे माता पिता, 20 दिन से लापता 7 साल की बच्ची की बरामदगी के लिए लगाईं गुहार


मध्य प्रदेश के राजगढ़ से 20 दिन पहले लापता 7 साल की बच्ची का पता लगाने में पुलिस नाकाम रही है। इस बात ये आक्रोशित परिजनों ने नेशनल हाइवे पर चक्का जाम कर विरोध शुरु किया है। इस मौके पर एक बेहद भावुक कर देने वाले दृश्य सामने आया है कि इस जाम में राजगढ़ सांसद रोडमल नागर फंस गए और जब इस वे मौके पर बच्ची के माता-पिता से मिले तो परिजनों ने भाजपा सांसद के पैरों में गिर कर अपनी बच्ची की वापसी की गुहार लगाई।

वहीं दूसरी और सांसद रोडमल नागर ने परिजनों से बच्ची को ढूंढने में 7 दिन का वक्त मांगा और आश्वासन देकर जाम खोलने की बात कही। फिर जाकर ग्रामीणों ने जाम खोल दिया। भड़के ग्रामीणों ने विधायक के सामने ही पुलिस को चेतावनी दी है कि यदि 7 दिन के अंदर पुलिस द्वारा लड़की को ढूंढ कर नहीं लाया जाता है तो वे 8 वें दिन फिर से चक्का जाम करेंगे।

बता दें कि तकरीबन 20 दिन पहले नरसिंहगढ़ तहसील के गांव अंबेडकर नगर से 7 साल की बच्ची लापता हो गई थी। बताया जा रहा है कि बच्ची के माता-पिता उसे पड़ोसी के घर में खेलता छोड़ खेत पर गए थे। तभी से वो लापता है। रात को जब परिजन खेत से घर लौटे तो बच्ची नहीं मिली, उसके गुमशुदा होने की सूचना बच्ची के परिजनों ने नरसिंहगढ़ थाने में की थी.

वहीं इस सारे घटनाक्रम को लेकर मध्य प्रदेश ने सत्तारुढ़ बीजेपी सरकार को घेरा है। म प्र कांग्रेस ने ट्वीट करते हुए लिखा कि इस हाल में है मप्र की जनता और बेशर्म सरकार निन्द्रालीन है। ये गरीब अपनी 7 साल की मासूम बेटी को खोजने की गुहार पुलिस से लगा रहे हैं, 20 दिन बाद भी कोई सुनवाई नहीं हुई तो बदहवास होकर सड़कों पर बिलख रहे हैं।

Post a Comment

0 Comments