मध्यप्रदेश में BJP को लगा बड़ा झटका, पूर्व मंत्री KLअग्रवाल कांग्रेस में हुए शामिल, कांग्रेस ने सिंधिया के गढ़ में लगाई सेंध


मध्य प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव से पहले दल बदल का दौर जारी है। गुरुवार को भाजपा नेता के एल अग्रवाल ने भाजपा को बड़ा झटका देते हुए हाथ का साथ थाम लिया है। बताया जा रहा है कि के एल अग्रवाल को महेंद्र सिंह सिसोदिया के ख़िलाफ़ बमोरी से चुनावी मैदान में उतारा जाएगा। मध्य प्रदेश में आने वाले कुछ दिनों में विधानसभा की 26 सीटों पर उपचुनाव होना तय है। इससे पहले बहुत से नेता दल बदल रहे हैं।

बता दें कि केल एल अग्रवाल पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस के संपर्क में थे। उन्होंने पहले ही साफ कर दिया था कि अगर उपचुनाव में कांग्रेस टिकट देती है, तो वह बमोरी से चुनाव लड़ेंगे। इससे पहले बड़े उलट फेर के साथ जब ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थन में कांग्रेस के मंत्री महेंद्र सिंह सिसौदिया ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था तो बमोरी की सीट खाली हो गई थी जिस पर अब उपचुनाव होना है। अब के एल अग्रवाल के कांग्रेस में जाने से तय है कि उन्हें महेंद्र सिंह सिसोदिया के ख़िलाफ बमोरी से चुनावी मैदान में उतारा जाएगा।

भारत के चुनाव आयोग ने मध्यप्रदेश की 26 सीटों पर होने वाले उपचुनाव को स्थगित कर दिया है। यह उपचुनाव (By Election) सितंबर माह में संभावित थे। इसके अलावा आयोग ने लोकसभा और राज्य की विधानसभाओं के चुनावों को भी स्थगित करते हुए कहा है कि जैसे ही स्थिति अनुकूल होगी वैसे ही चुनाव करा लिए जाएंगे।

अगले दो माह में होने वाले उपचुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने बड़ा फैसला लिया है। चुनाव आयोग ने कोरोना महामारी के चलते उपचुनाव को स्थगित करने का फैसला किया है। चुनाव आयोग ने कहा है कि कोरोना काल में उपचुनाव कराना संभव नहीं है।

इधर, दो दिन पहले ही मुख्य चुनाव आयुक्त ने एक साक्षात्कार में सितंबर तक चुनाव कराने की बात कही थी, इसके बाद प्रदेश में चुनाव की हलचल तेज हो गई थी और पार्टियों ने अपने-अपने स्तर पर तैयारी भी तेज कर दी थी। 26 सीटों पर एक दूसरे की पार्टियों से नेताओं को अपने खेमे में मिलाने के दौर के बीच अब पार्टियों को निराशा का सामना करना पड़ेगा। क्योंकि चुनाव अब आगे बढ़ गए हैं।

Post a Comment

0 Comments