अगले साल भारत की GDP -6% की रफ्तार से सरकेगी


Soumitra Roy
कोरोना से बड़ा देशविरोधी इस वक़्त और कोई नहीं। कम्बख़्त ऐसे राज्यों में जमा बैठा है, जो देश के जीडीपी को बढ़ाते हैं। सिंगापुर की ब्रोकरेज फर्म DBS ने आज यह कहकर चिंता और बढ़ा दी है कि अगले साल भारत की जीडीपी -6% की रफ्तार से सरकेगी। यानी इस साल से भी ज़्यादा आर्थिक तबाही नज़र आएगी।
DBS का कहना है कि महाराष्ट्र, तमिलनाडु और गुजरात तीनों मिलकर भारत का 30 फीसदी जीडीपी के बराबर उत्पादन करते हैं। फिलहाल तीनों ही राज्यों में कोरोना से बुरा हाल है।
इन तीनों राज्यों के 7% जिलों में 70% कोरोना मरीज हैं। इन तीन राज्यों के साथ कर्नाटक और आंध्रप्रदेश को भी जोड़ लें तो भारत की 70% जीडीपी पैदा करने वाले 5 राज्यों में कोरोना को भगाना बहुत मुश्किल होता जा रहा है। इससे पहले DBS ने इसी वित्त वर्ष के लिए -4.8 की विकास दर का अनुमान लगाया था। तकरीबन यही अनुमान बाकी एजेंसियों का भी है।
DBS का अनुमान है कि अगले साल की तीसरी तिमाही से पहले भारत के विकास दर के जोर पकड़ने की उम्मीद नहीं है। फर्म ने इस साल सितंबर-अक्टूबर में सरकार की ओर से एक और प्रोत्साहन पैकेज की उम्मीद जताई है। इसका मतलब है कि लोग पूरे साल पेट्रोल-डीजल फूंककर देश सेवा करते रहें।

Post a Comment

0 Comments