पांच पांच कोरोना पॉजिटिव निकलने के बाद राम भरोसे महराजगंज ब्लॉक मुख्यालय।। Raebareli news ।।

शिवाकांत अवस्थी
महराजगंज/रायबरेली: ब्लॉक परिसर में कोरोना मरीजों का मिलना निरंतर जारी है। वहीं दूसरी ओर प्रशासनिक लापरवाही भी चरम पर है। पांच-पांच लोगों के इकट्ठे एक जगह से कोरोना पॉजिटिव पाए जाना कोई साधारण बात नहीं है, लेकिन ब्लॉक प्रशासन इसे बहुत हल्के में ले रहा है।

      आपको बता दें कि, ब्लॉक मुख्यालय में कोरोना पॉजिटिव मिलने के 72 घंटे बीत जाने के बाद भी ब्लॉक को ना तो हॉटस्पॉट घोषित किया गया है, और ना ही यहां पर आने-जाने वालों पर रोक लगाई गई। आज तीसरे दिन भी महराजगंज ब्लॉक में गेट पूरी तरह से खुले रहे। बेरोकटोक सैकड़ों लोगों का आना-जाना बना रहा। हालांकि कुछ समझदार लोगों ने परिसर के अंदर ना जाने में ही अपनी भलाई समझी और गेट से ही वापस लौट गए। दूसरी ओर जहां पर कंप्यूटर ऑपरेटर जो पहला संक्रमित पाया गया था, उसके कक्ष को सैनिटाइज नहीं किया गया, ना ही ब्लॉक परिसर में कहीं सैनिटाइजेशन का काम प्रकाश में आया। हालांकि वीडियो प्रवीण कुमार ने यह जरूर बताया कि, ब्लाक परिसर को सैनिटाइजेशन कर दिया गया है। लेकिन लोगों का कहना है कि, ब्लॉक मुख्यालय को अभी तक सेनीटाइजर नहीं कराया गया है। इससे कोरोना महामारी के और जोर पकड़ने की आशंका प्रबल हो गई है। 
     क्योंकि कंप्यूटर ऑपरेटर के संपर्क में विकासखंड के रोजगार सेवक, सहायक विकास अधिकारी, लिपिकीय पटल के लोग तथा बड़ी तादात में ग्राम प्रधान भी आए होंगे। अब तक स्वास्थ्य विभाग द्वारा किसी को भी क्वॉरेंटाइन नहीं किया गया है। यह हैरत भरी बात है। ब्लॉक प्रशासन की इस लापरवाही से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा कोरोना पर प्रभावी नियंत्रण के दिशा निर्देशों की खुलेआम धज्जियां उड़ रही हैं।
    वही जागरूक लोग ब्लॉक परिसर में बने कमरों में जुटी भारी भीड़ के अलावा समूह में घूम रहे लोगों द्वारा बगैर मास्क पहनकर व सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते देखे जा रहे हैं। लोग सहमे हुए हैं कि, ब्लॉक का यह कोरोना लेकर लोग गांव में ना पहुंच जाएं। वहीं मोन गांव के रोजगार सेवक के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर ग्रामीणों में हड़कंप है। कई लोगों ने जिलाधिकारी से गांव को हॉटस्पॉट घोषित करके सैनिटाइजेशन व अन्य उपाय करवाने की मांग की है।

Post a Comment

0 Comments