आप जैसे कुछ देशभक्त और चाहिए, आखिर देश का मुकम्मल बंटाधार भी तो करना है?


श्रीमती अंजना ओम कश्यप जी,
आपका सुशांत सिंह राजपूत के ऊपर दिन भर चला प्रोग्राम देखा। अच्छा लगा जानकर की हर "जरूरी" देश हित वाले केस पर आपकी तीखी निगाह रहती है। सुशांत की मौत पर जितना तवज्जो आपने दिया है वह काबिलेतारिफ है।
सुशांत ऐसा महान कलाकार यह डिजर्व भी करता है। उस कलाकार की हर छोटी बड़ी बात आपने कवर करी इसके लिए धन्यवाद। उसके पर्सनल व्हाट्सएप मेसज तक पब्लिक को दिखाए गए। उम्मीद करता हूं कि सुशांत को मरणोपरांत ही सही लेकिन न्याय मिलेगा और आपकी मेहनत रंग लाएगी।
आगे आपको अग्रिम धन्यवाद इसलिए भी दे दूं की मुझे मालूम है कि अगला आप दीन दयाल उपाध्याय की "मौत" भी दिन रात कवर करेंगी। बिहार चुनाव के खत्म होते ही। कैसे वह स्टेशन पर पहुंचे, कैसे उनकी लाश स्टेशन से कुछ दूरी पर मिली।
कौन कौन उनके साथ था। किसने क्या क्या प्रतिक्रिया दी। अटल ने क्या बोला। जोशी उस दिन सो पाए थे कि नहीं। आडवाणी ने क्या नहीं बोला। मैं जानता हूं कि आपके अंदर का जेम्स बॉन्ड अब शांत बैठने वाला नहीं। एक हिंट। मोदीजी के पास हो सकता है ईमेल व्हाट्सएप सब रहा हो उस समय। झांक लीजिएगा एक बार।
आपके अंदर के जेम्स बॉन्ड का ध्यान देश हित के अन्य कुछ जरूरी विषयों पर दिलाना चाहता हूं।
1. PMCARES
2. राफेल
3. वेंटिलेटर
4. माल्या फाइल्स
5. कोरोना काल में लॉक डाउन में देरी जिससे 25 लाख मरीज और 50 हजार मौतें हो चुकी हैं।
6. रेल का निजीकरण
अगर आप सही में देशभक्त हैं और भारत का भला चाहती हैं तो इनमे से किसी भी एक विषय पर एक घंटे का प्रोग्राम बनाइए। डिबेट नहीं प्रोग्राम। डिबेट तो आप सिर्फ हिन्दू मुस्लिम पर पसंद करती हैं। उस एक घंटे के कितने मिनट बाद आपकी नौकरी जाती रहेगी यह देखने वाली बात होगी। 
मेरी सोच तो कहती है कि आपमें हिम्मत ही नहीं है ऐसे किसी प्रोग्राम को बनाने की। क्योंकि मुझे आप सिर्फ एक चमची से ज्यादा कुछ नहीं लगती। लेकिन मान लें कि आपके अंदर का देशप्रेम हिलोरे मारता है और आप प्रोग्राम करती भी हैं तो 10 मिनट के अंदर आपका बोरियाबिस्तर बांध दिया जाएगा और आपकी देश हित वाली देशभक्ति चवन्नी में चार बिक रही होगी।
आपकी इस देशभक्ति को सलाम। अभी आप जैसे कुछ देशभक्त और चाहिए। आखिर देश का मुकम्मल बंटाधार भी तो करना है।

Rajeev Srivastava की फेसबुक वाल से 


Post a Comment

0 Comments