जुलाई में 11 लाख से ज़्यादा कोरोना के नए मामले सामने आए, 19 हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत हुई


दिलीप खान 
जुलाई सबसे घातक गुजरा. इस महीने में 11 लाख से ज़्यादा कोरोना के नए मामले भारत में सामने आए. अब रोज़ाना 50 हज़ार से ज़्यादा केस आधिकारिक तौर पर सामने आ रहे हैं. 19 हज़ार से ज़्यादा लोग अकेले जुलाई में इस वायरस से मारे गए.
जुलाई के आख़िरी 15 दिनों में ही 7.3 लाख से ज़्यादा केस मिले हैं. ये सब तब है, जब कई लोग स्पष्ट लक्षण के बावजूद अव्यवस्था और डर के मारे कोरोना का टेस्ट नहीं करवा रहे हैं. उन्होंने ख़ुद को आंकड़ा नहीं बनाया.
जून में मात्र 4 लाख केस आए थे. जुलाई में ये लगभग तीन गुना बढ़ गया. राहत अभी नहीं मिलेगी. जिन राज्यों को इस वायरस ने अभी सबसे ज़्यादा प्रभावित कर रखा है, उन राज्यों के लिए अगस्त को पीक बताया जा रहा है. जिन राज्यों में इस वायरस ने देर से दस्तक दी, वहां सितंबर-अक्टूबर में हालात बेक़ाबू होंगे.
इस बीच कुछ लोग चाहें तो फिर से आकर इसे ‘नकली वायरस’ और ‘दिमाग़ी फितूर’ कहकर नई कॉन्सपिरेसी थ्येरी ठेल सकते हैं.

Post a Comment

0 Comments