एक माह की बच्ची को उठा ले गया ये आदमखोर कुत्ता, गड्ढे में मिला शव


कानपुर। शहर में आवारा कुत्ते इन दिनों आदमखोर होते जा रहे हैं और बीते दिनों डबल पुलिस के पास एक महिला को नोच-नोच कर मार डाला था। इसके बाद बुधवार को बर्रा क्षेत्र की कच्ची बस्ती में आदमखोर कुत्ते ने एक माह की बच्ची को उठा ले गया। मां के दौड़ाने पर वह बच्ची को लेकर घर के पीछे गड्ढे को फांदते हुए भाग निकला।

इसी दौरान पानी भरे गड्ढे में कुत्ते के मुंह से बच्ची गिर गयी, पर घर वाले व मोहल्ले के लोग कुत्ते के पीछे पाण्डु नदी की तरफ भागे और काफी देर बाद गड्ढे में उनकी नजर पड़ी तो बच्ची का शव उतरा रहा था। बर्रा-8 ई-वन कच्ची बस्ती निवासी नीरज संविदा में सफाई कर्मी है और परिवार में पत्नी चांदनी और दो बेटियां हैं।

बुधवार को बड़ी बेटी डेढ़ साल की माहिरा घर के बाहर खेल रही थी और एक साल छोटी बेटी को मां ने घर के अंदर चारपाई पर लिटाकर बाथरुम में नहाने चली गयी। घर में दरवाजा न होने के चलते एक काले रंग का आदमखोर कुत्ता कमरे में घुस गया और नवजात बच्ची को उठाकर भागने लगा। बच्ची की रोने की आवाज सुन मां बाथरुम से भागी तो देखा कि कुत्ता बच्ची को मुंह में दबाकर भाग रहा है। मां ने कुत्ते का पीछा और शोर मचाना शुरु कर दिया।

कुत्ता घर के पीछे पानी भरे गड्ढे को फांदते हुए पाण्डु नदी की ओर भागने लगा। इसी बीच मोहल्ले के लोग एकत्र हो गये और पाण्डु नदी की तरफ कुत्ते को खोजते हुए भागने लगे। लेकिन कुत्ता जब पानी से भरे गड्ढे को फांदकर भाग रहा था तभी कुत्ते के मुंह से नवजात बच्ची छूट गयी और पानी से उसकी मौत हो गयी।

कई घंटे बाद पाण्डु नदी की ओर कुत्ता नहीं मिला तो थक हारकर लोग घर के पीछे पानी भरे गड्ढे के तरफ गये तो देखा कि नवजात का शव उतरा रहा था। शव मिलने के बाद स्वजनों ने उसे पांडु नदी के किनारे दफन कर दिया। इधर मामले की जानकारी होने पर गुजैनी चौकी पुलिस पहुंची। जहां स्वजनों ने पूछताछ में अंतिम संस्कार करने की जानकारी देते हुए कानूनी कार्रवाई से इन्कार कर दिया।

Post a Comment

0 Comments