अमेठी में पुलिस कस्टडी से लापता हुई रेप पीड़िता, महकमे में मचा हड़कंप


अमेठी: जायस थाने की पुलिस द्वारा इस मामले में जरूरी कार्रवाई करने के बाद पीड़ित नाबालिग लड़की का मेडिकल परीक्षण और 164 का बयान दर्ज करना था। लेकिन इससे पहले वो 21 अगस्त की देर शाम से पुलिस की कस्टडी से अचानक कहीं गायब हो गई। पुलिस की कस्टडी से रेप पीड़ित नाबालिग लड़की लापता, महकमे में हड़कंप मचा हुआ है।

जायस थाने की पुलिस द्वारा इस मामले में जरूरी कार्रवाई करने के बाद पीड़ित नाबालिग लड़की का मेडिकल परीक्षण और 164 का बयान दर्ज करना था। लेकिन इससे पहले वो 21 अगस्त की देर शाम से पुलिस की कस्टडी से अचानक कहीं गायब हो गई पुलिस द्वारा आवश्यक कार्रवाई करने के दौरान पीड़ित किशोरी के अचानक थाने से अचानक गायब होने से सवाल खड़े हो रहे हैं।

    आपको बता दें कि, अमेठी में पुलिस की सुपुर्दगी (कस्टडी) से एक नाबालिग किशोरी के लापता होने का मामला सामने आया है। लड़की के परिजनों का आरोप है कि, उनकी बेटी को बहला-फुसलाकर जबरन भगा लिया गया, और उसके साथ रेप किया गया।    उन्होंने यह भी कहा कि, आरोपियों द्वारा इसका वीडियो बनाकर लगातार ब्लैकमेल किया जा रहा था। घटना के बाद पीड़िता जायस कोतवाली क्षेत्र में रहने वाली अपनी बहन रजिया के पास लौट आई थी।

     मिली जानकारी के मुताबिक नाबालिग शाजिया पिछले दिनों जायस थाना क्षेत्र में अपनी बहन के यहां रहने आई थी। इस दौरान गांव के कुछ लोगों ने उसका अपहरण कर लिया। शाजिया की बहन ने पुलिस में अपनी बहन को अगवा किए जाने की शिकायत की। पुलिस ने केस दर्ज करने के बाद काफी खोजबीन करते हुए 17 अगस्त को शाजिया को बरामद कर लिया। पुलिस द्वारा इस मामले में जरूरी कार्रवाई करने के बाद पीड़िता का मेडिकल परीक्षण और 164 का बयान दर्ज करना था। लेकिन इससे पहले वो 21 अगस्त की देर शाम से पुलिस की कस्टडी से अचानक कहीं गायब हो गई।

     शाजिया की गुमशुदगी से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। शाजिया की खोज के लिए अमेठी पुलिस की कई टीमें जगह-जगह दबिश दे रही हैं, लेकिन अभी तक उसका कोई पता नहीं चला है। इस मामले में अमेठी पुलिस की कार्यशैली पर गंभीर सवाल उठ रहे हैं। पुलिस का कोई भी अधिकारी फिलहाल इस पर कुछ भी बोलने से बच रहा है। हालांकि दबी आवाज में पुलिस शाजिया के गायब होने की बात स्वीकार करती है।

Post a Comment

0 Comments