आए थे शराब दुकान लूटने लेकिन हुआ कुछ ऐसा कि बंदूक और बाइक छोड़ भाग गए...


जशपुर: जिले के कोतबा इलाके में सरकारी शराब दुकान में लूट का असफल प्रयास करने की घटना सामने आई है। घटना की सूचना पर मौके पर एसपी सहित पुलिस विभाग के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस की घेराबंदी सख्त होते हुए देख कर लुटेरे जंगल के पास बाइक, हथियार और कारतूस छोड़ कर फरार हो गए। सुबह जंगल की ओर निकले ग्रामीणों इसकी सूचना पुलिस को दी। सामान जब्त कर पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।
लुटेरों की तस्वीर, सीसीटीवी कैमरे में कैद होने की बात भी सामने आ रही है। जानकारी के मुताबिक कोतबा के बागबहार रोड में स्थित सरकारी शराब दुकान में तीन अज्ञात हथियारबंद आरोपित घुस आए। इन आरोपितों ने दुकान में मौजूद यहां के व्यवस्थापक को बंदूक की नोंक पर धमकाते हुए शराब बिक्री की रकम की मांग करने लगे।
लुटेरों ने मैनेजर से आलमारी की चाबी लेकर तलाशी ली, लेकिन बिक्री की राशि कोतबा चौकी में जमा कर दिए जाने से लुटेरों के मंसूबों पर पानी फिर गया। बौखलाए आरोपितों ने मैनेजर सहित दुकान में मौजूद कर्मचारियों की पिटाई कर दी। मैनेजर के जेब में रखे हुए नगदी और मोबाइल लूट कर फरार हो गए। मैनेजर ने घटना की जानकारी तत्काल कोतबा चौकी प्रभारी किरणेश्वर सिंह को दी।
सूचना मिलते ही पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में एसपी बालाजी राव, एसडीओपी योगेश देवांगन सहित पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए। पुलिस की टीम मौके से फरार हुए आरोपितों की धर पकड़ के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया, लेकिन रात अधिक हो जाने और आसपास के वन्य क्षेत्रों में भारी तादाद में हाथियों की मौजूदगी से पुलिस टीम को फरार लुटेरों तक पहुंचने में सफलता नहीं मिल पाई।
मामले में सोमवार को उस वक्त नया मोड़ आया, जब कोतबा चौकी क्षेत्र के ग्राम डुमरिया के जंगल में कुछ ग्रामीणों ने तीन बाइक, एक बोरा और एक कारतूस जमीन पर गिरा हुआ देखा। बोरे में बम होने की आशंका पर किसी ग्रामीण ने इसे हाथ नहीं लगाया। ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस की टीम ने बोरे को खोला, इसमें से एक 32 बोर का बंदूक जब्त किया गया। आशंका जताई जा रही है लुटेरे झारखण्ड की ओर फरार हुए हैं। जब्त किए गए तीनों बाइक भी झारखंड नंबर की बताई जा रही है।

Post a Comment

0 Comments