पहली कोरोना वैक्सीन बनाने वाले रूस ने इसी तरह 43 साल पहले सारी दुनिया को चौंकाया था


सौमित्र रॉय 
आज से करीब 43 साल पहले की बात है। सारी दुनिया को चौंकाते हुए रूस ने 1957 में दुनिया के पहले उपग्रह को अंतरिक्ष में स्थापित कर दिया था। 43 साल बाद फिर तवारीख ने खुद को दोहराया है ? जरा ठहरिए। शायद हां, या शायद नहीं!
रूस ने कोरोना की वैक्सीन बना ली है। हजारों छलनियों से छनने के बाद आज जब मैंने यह बात अपने पड़ोसी से सुनी तो आंखें चौड़ी हो गईं। किसने बताया ? मेरे इस सवाल पर पड़ोसी ने बताया कि व्हाट्सएप पर मैसेज आया है।
रूस ने अपने वैक्सीन का नाम रखा है स्पुतनिक 5. जिस रफ्तार से व्लादीमीर पुतिन ने इस वैक्सीन को लांच किया है, उसने ढेरों सवाल खड़े कर दिए हैं। मॉस्को के गामालेया इंस्टीट्यूट के इस वैक्सीन का अभी तीसरे चरण का क्लीनिकल ट्रायल चल रहा है।
वैक्सीन का ऐलान पुतिन का राजनीतिक फैसला है। इसके लिए उन्होंने अपनी बेटी को भी दांव पर लगा दिया है, जिसे वैक्सीन के ट्रायल में शामिल किया गया है। किसी हिंदी मसाला फिल्म की तरह। बेटी का फर्ज होता है ना, बाप की इज्जत रखना?
रूस के इस वैक्सीन को खरीदने के लिए भिखारी की तरह भारत, सऊदी अरब और ब्राजील झोली फैलाए खड़ा है। जी हां। झूठ की बुनियाद रखने वालों को ऐसा करना ही पड़ता है। फिर हमारे पीएम को तो भीख मांगने का लंबा अनुभव है।

Comments

Popular posts from this blog

Bollywood Celebrities Phone Numbers | Actors, Actresses, Directors Personal Mobile Numbers & Whatsapp Numbers

जौनपुर: मुंगराबादशाहपुर के BJP चेयरमैन ने युवती के साथ कई महीने तक किया बलात्कार, देखें वायरल वीडियो

किन्नर बोले- अगर BJP से सरकार नहीं चल रही है तो हमें दे दे कुर्सी, हम सरकार चलाकर दिखा देंगे