6 महीने पहले के राज मुर्दा खुद खोलेगा!, जानिए कथित हत्या का सनसनीखेज खुलासा


डूंगरपुर। राजस्थान के डूंगरपुर जिले के धम्बोला थाना इलाके के एक युवक की 6 महीने हुई कथित हत्या को लेकर अपर 'मुर्दा' ही राज खोलने जा रहे है। दरअसल, यहां खेरपेड़ा गांव के युवक की गुजरात मे हुई कथित हत्या में मामले में सनसनीखेज खुलासा हुआ है। जिस युवक की हत्या के आरोप में दो भाई गुजरात जेल की हवा खा रहे हैं, वही युवक 6 माह बाद जिंदा घर लौटा आया। जिंदा युवक घर लौटने पर उसे देख परिजन और गांव वाले अचंभित हैं।
मामला धम्बोला थाना क्षेत्र के खेरपेड़ा निवासी ईश्वर का है। ईश्वर दिसंबर 2019 में गुजरात के जूनागढ़ मजदूरी के लिए गया था। लेकिन लॉक डाउन की वजह से गुजरात में ही फंसा रहा। खुद के पास मोबाइल नहीं होने और घरवालों के मोबाइल नंबर याद नहीं होने से वह किसी को भी संपर्क नहीं कर सका था। इसके बाद गुजरात के इसरी थाना क्षेत्र के मोरीगांव के पास 6 फरवरी 2020 को जंगल में एक युवक का शव मिला था। शव पुराना और सड़ा गला होने के कारण फूल गया था। पुलिस की तफ्तीश में युवक का शव कनेक्शन खरपेडा से निकला। ईश्वर की पत्नी सीमा और साले एवं ससुर ने इसकी शिनाख्त खरपेडा निवासी ईश्वर पुत्र खातू मनात के रूप में कर दी।
ईश्वर के भाइयों और परिजनों ने पुलिस को यह शव ईश्वर का नहीं होना बताया था। इसके बाद ईश्वर की पत्नी ने अपने जेठ प्रकाश और देवर पारस के खिलाफ रिपोर्ट देकर अपने पति की हत्या करने का आरोप लगाया। पुलिस ने दोनों भाइयों को ईश्वर की हत्या मामले में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। और तब से वे जेल में हैं। इस बीच ईश्वर 25 जुलाई को वो घर लौटा तो उसे पता चला कि उसकी हत्या के जुर्म में उसके ही सगे भाई गुजरात की मोडासा जेल में बंद है।
इधर, अब पीड़ित ईश्वर और उसके परिवार ने न्याय की गुहार लगाईं है। ईश्वर और उसके परिजनों ने गुजरात पुलिस और ईश्वर के ससुराल पक्ष पर षड्यंत्र का आरोप लगाते हुए ईश्वर ने कानूनी कार्रवाई की मांग गुजरात और राजस्थान के गृह विभाग और मानवाधिकार आयोग से की। साथ ही खुद की जान माल की सुरक्षा की मांग की। मांग की है कि जिस व्यक्ति के शव को ईश्वर का बता कर हत्या का केस दर्ज किया गया उसका भी खुलासा किया जाए।
इस पूरे मामले में गुजरात पुलिस की बड़ी लापरवाही सामने आई है वहीं पीड़ित ईश्वर व उसके ससुराल पक्ष की भूमिका भी संदिग्ध रही है। वहीं पीड़ित पक्ष ने न्याय की गुहार लगाते हुए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। अब देखने वाली बात होगी की पीड़ित ईश्वर और बिना जुर्म की सजा काट रहे उसके दो भाइयों को आखिर कब तक न्याय मिल पाता है।

Post a Comment

0 Comments