सुहागरात न मना पाने के कारण पति ने की आत्महत्या, सास ने बहु पर लगाये ये आरोप


नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच गुजरात से एक हैरान करने वाली खबर निकलकर सामने आ रही है। गुजरात के अहमदाबाद के शहरकोटडा पुलिस ने 32 वर्षीय एक महिला के खिलाफ केस दर्ज किया है।
महिला पर अपने पति को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप है। महिला के खिलाफ दायर केस में कहा गया है कि शादी के 22 महीनों के दौरान महिला ने अपने पति को कभी भी संबंध बनाने की अनुमति नहीं दी थी।
आरोप है कि इसी मानसिक प्रताड़ना से पीड़ित होकर पति ने आत्महत्या कर ली। पुलिस ने मामले में पत्नी को आरोपी बनाते हुए मामला दर्ज कर लिया है। आरोपी गीता परमार जयंती वकील चॉल की रहने वाली है।
मृतक की मां ने बताया कि उसका बेटा सुरेंद्र सिंह रेलवे में कर्मचारी था। 2 साल पहले अक्टूबर महीने में बेटे की शादी गीता के साथ हुई थी। उन्होंने बताया कि इससे पहले 2016 में उसकी पहली पत्नी के साथ डायवोर्स हो चुका था।
गौरतलब है कि इससे पहले गीता ने भी दो पुरुषों को तलाक दे चुकी थी। उन्होंने बताया कि एक बार मैं बेटे के कमरे में गई तो बेटे और बहू दोनों को अलग-अलग बिस्तर पर सोते हुए पाया। उन्होंने बताया कि बेटा ने उनसे एक बार बताया था कि उसका उससे कोई शारीरिक संबंध नहीं है।

Post a Comment

0 Comments