चेहरे मे मुल्तानी मिट्टी, आंखों में काजल और होठों पर लिपिस्टक लगाकर फांसी से लटका युवक


कानपुर के एक छात्र ने चेहरे पर मुल्तानी मिट्टी, आंखो में काजल और होठों पर लिपिस्टक लगाकर फांसी लगा ली। यह घटना देखकर मौके पर पहुंची पुलिस के भी होश फाख्ता हो गए। परिवारवालों का कहना है कि युवक पिछले कई दिनों से मानसिक तनाव में था।
इस घटना के बाद पुलिस पूरे मामले की बारीकी से जांच में जुटी हुई है।‌ छात्र के रवैये को देखकर पुलिस और परिवारवाले भी हैरान हैं। सूइसाइड की सूचना पर पहुंची पुलिस ने घटना स्थल का निरीक्षण कर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।
नौबस्ता थाना क्षेत्र स्थित राजीव नगर में रहने वाले कपिल देव के मकान में अमरनाथ दुबे परिवार के साथ तीन साल से किराए पर रह रहे थे। अमरनाथ दुबे प्राइवेट नौकरी करते हैं। परिवार में पत्नी किरन मजदूरी करती हैं, बड़ा बेटा सुशील दुबे ट्रक चालक है, छोटा बेटा रोहित दुबे (18) इंटर का छात्र था। रोहित प्राइवेट फॉर्म भरकर मजदूरी करता था और अपना खर्च निकालता था। शुक्रवार को परिवार के सभी सदस्य अपने-अपने काम पर गए थे। रोहित घर पर अकेला था।
रोहित ने शुक्रवार दोपहर को खुद को कमरे में बंद कर लिया। जानकारी के मुताबिक, उसने पहले अपने चेहरे पर मुल्तानी मिट्टी का लेप लगाया। इसके बाद आंखों में काजल और होठों पर लिपिस्टिक लगाने के बाद कमरे में साड़ी का फंदा बनाकर फांसी पर लटक गया। दोपहर बाद रोहित की मां काम से लौटी तो उसने दरवाजे खटखटाया। जब उसे अंदर से आहट नहीं मिली तो जाली से झांककर अंदर देखा। इस दौरान मां ने देखा कि बेटे का शव फंदे से लटक रहा था। बेटे का शव लटकता देख वह चीखते हुए बेहोश होकर गिर पड़ीं।
लिपिस्टिक और आंखो में लगा काजल देखकर हैरान रह गए। पुलिस और पूरे क्षेत्र में इस बात की चर्चा है कि रोहित ने अपना हुलिया बदलकर सूइसाइड क्यों की। पुलिस के लिए भी यह जांच का विषय है कि आखिर रोहित ने ऐसा क्यों किया। रोहित के परिवारवालों का कहना है कि उसका किसी से कोई विवाद नहीं था।
किसी तरह के प्रेम संबधों की भी बात सामने नहीं आई है। लेकिन बीते कई दिनों से वह किसी बात को लेकर तनाव में था और ठीक ढंग से खाना भी नहीं खा रहा था। परिवारवालों ने बताया कि रोहित मानसिक रूप से स्वस्थ था। एसपी साउथ दीपक भूकर के मुताबिक युवक ने सूइसाइड किया है। इसकी जानकारी जुटाई जा रही है। इसके बाद इस संबंध में अवगत कराया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments