रायबरेली: इस वजह से प्रशासन ने खोया मंडी को किया सील, रक्षाबंधन पर व्यापरियों को भारी नुकसान


महताब खान 
रायबरेली। विगत करीब एक पखवारा पूर्व शहर के कुछ इलाकों में कोरोना के मरीज मिलने के बाद नगर के मुख्य बाजार घंटाघर सब्जी मंडी कपड़गंज से लेकर खोया मंडी को पूरी तरह से सील कर दिया गया था। इस बीच इन इलाकों में छोटी-बड़ी सभी दुकानें और खोया मार्केट भी पूरी तरह से ठप रही। जिससे बकरीद और रक्षाबंधन जैसे महत्वपूर्ण त्योहारों पर भी लोगों को खोया नहीं मिल पाया।
अब जिला प्रशासन रक्षाबंधन पर मिठाई और राखी की दुकानों को खोलने में जो रियायत दे रहा है वह खोया मंडी बन्द रहने से आम नागरिकों की जेब ढीली करने में सहायक बनेगी। क्योंकि शहर के अंदर समय पर खोया न मिल पाने के कारण मिठाइयों के दाम आसमान छू रहे हैं। साथ ही मिठाइयों में खोए की मात्रा घटने और मिलावटी खोए का इस्तेमाल होने की संभावना भी बढ़ गई है।
नागरिकों का कहना है कि जिला प्रशासन को त्यौहारों के मद्देनजर कम से कम खोया मंडी जरूर खोलनी चाहिए थी। यदि प्रशासन के पास इतनी भी क्षमता नहीं है तो कम से कम  खोया व्यवसायियों के लिए शहर में दुकान लगाने का स्थान चिन्हित कर देते। लेकिन समय पर यह प्रबंध नहीं होने से अब इसका दुष्प्रभाव नागरिकों पर पड़ेगा।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post
loading...