रायबरेली: सरकारी निर्माण कार्य में नाबालिग कर रहे हैं मजदूरी, अफसर बने मूकदर्शक


महताब खान 
रायबरेली: ग्राम सभा बंदरामऊ विकासखंड राही तहसील सदर थाना मिल एरिया जिला रायबरेली में ग्राम प्रधान संदीप कुमार यादव द्वारा कराए गए मनरेगा के तहत कार्य तथा उसमें किए गए भारी भ्रष्टाचार की जांच के लिए मोहम्मद मुश्ताक मोहम्मद सलीम ने कई प्रार्थना पत्र जिलाधिकारी को दिए थे जिनकी जांच प्रशासन द्वारा 29 जून 2020 को की गई थी
जिसमें ग्राम प्रधान व उसके सहयोगियों ने आपत्ति करते हुए जांच टीम को मौके से भगा दिया था दिनांक 30 जून 2020 को शिकायतकर्ता मोहम्मद मुस्ताक को ग्राम प्रधान संदीप कुमार यादव उसके भाई दीपेंद्र उर्फ दीपू व पिता गुरुप्रसाद अपने अन्य तीन साथियों के साथ मिलकर मारपीट कर हत्या कर दी थी जिसके बाद से वह सभी जेल में हैं।
1 अगस्त 2020 को ग्राम प्रधान संदीप यादव के जेल में रहते हुए अवैधानिक रूप से इंटरलॉकिंग हीरालाल व छोटेलाल के दरवाजे से भामनी के दरवाजे तक ग्राम प्रधान के सहयोगी व ग्राम पंचायत अधिकारी द्वारा इंटरलॉकिंग के पूर्व में कराए गए कार्य गबन को छिपाने के लिए लगवाई जा रही है जबकि उक्त इंटरलॉकिंग को पूर्व में लगी हुई दिखाकर उसका पैसा हड़प लिया गया है
1 अगस्त को सूचना देने पर थाना मिल एरिया के इंचार्ज व दरोगा पंकज सोनकर व कई अन्य सिपाहियों के साथ मौके पर जाकर हम प्रार्थी गणों के विरोध के बावजूद भी इंटरलॉकिंग को प्रोत्साहित कर मौके से चले गए इंटरलॉकिंग के खड़ंजा को निर्मित करने के लिए लगभग 100 लोग लगे हुए हैं जिसमे नाबालिग बच्चे भी शामिल हैं।
पूर्व में इसी खड़ंजा मार्ग के लिए आहरित धन का दुरुपयोग कर लिए जाने के बाद उसका पुनर्निर्माण भ्रष्टाचार पर पर्दा डालने की कोशिश की जा रही है प्रार्थी गण जिलाधिकारी को इसके पहले भी लिखित शिकायत पत्र दिया था परंतु आज तक कोई जांच व कार्रवाई नहीं हुई।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post
loading...