लखीमपुर में मासूम बच्ची से गैंगरेप के बाद आंखे फोड़ी, जीभ काटी और फंदा डालकर खेतों में ले गए दरिंदे


लखनऊ: उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में एक 13 साल की बच्ची की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई है। बच्ची के साथ सिर्फ गैंगरेप की घटना को ही अंजाम नहीं दिया गया बल्कि उसकी आंखें फोड़ी दी, जीफ काटी गई और उसके गले में फंदा डालकर उसको खेतों में जानवरों की तरह घसीटा गया है। बच्ची का शव शुक्रवार (14 अगस्त) देर रात खेतों में बराबद में हुआ। बच्ची के पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गैंगरेप की पुष्टी हुई है पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

बच्ची के पिता ने भी मीडिया को बताया है कि उसकी बेटी की रेप के बाद हत्या हुई हैं। उसकी आंखें बाहर निकली हुई है। उसकी जीभ कटी हुई है। यह घटना शुक्रवार (14 अगस्त) को लखनऊ से करीब 130 किलोमीटर दूर नेपाल सीमा से सटे एक गांव में घटी। उसका शव एक आरोपी के खेतों में मिला था।

शनिवार (15 अगस्त) को बच्ची की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गैंगरेप की पुष्टि हुई है। जिसके बाद पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ हत्या और गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार किया। साथ ही NSA के तहत कार्रवाई शुरू कर दी है।

जानें कैसे घटी पूरी घटना
13 साल की बच्ची लखीमपुर खीरी जिले में ईसानगर थाना क्षेत्र के पकरिया गांव की रहने वाली है। बच्ची के पिता के मुताबिक शुक्रवार (14 अगस्त) बच्ची दोपहर अपने घर से शौच करने निकली थी। उस वक्त ही उसका गांव के ही रहने वाले दो शख्स ने अगवा कर बच्ची के साथ रेप किया फिर उसकी हत्या कर दी। हत्या से पहले बच्ची के साथ हैवानियत की गई। उसकी आंखें फोड़ी गई, जीभ काटी गई और गले में फंदा डालकर घसीटा भी गया। बाद में आरोपी शव को गन्ने के खेत में फेंककर घटनास्थल से फरार हो गया था।

शुक्रवार (14 अगस्त) दोपहर एक बजे के निकलने के बाद जब बच्ची अपने घर नहीं पहुंची तो परिवार वालों ने उसे खोजना शुरू किया। देर रात तक जब बच्ची घर नहीं लौटी तो पुलिस को सारी बात बताई गई। परिवार वाले पुलिस की टीम के साथ बच्ची की तलाश करने खेत की ओर बढ़े तभी गन्ने के खेत में मासूम बच्ची का शव बरामद हुआ।

Post a Comment

0 Comments