रायबरेली पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए मऊ बाजार से अभियुक्त को किया गिरफ्तार


जयपुर से भव्य नया शिवलिंग लाकर सर्वसम्मति से किया जाएगा स्थापित
शिवाकांत अवस्थी
महराजगंज/रायबरेली: कोतवाली खेत के मुरैनी गांव में प्राचीन गौरी शंकरन महादेव शिवलय में स्थापित शिव लिंग को एक  हताश निराश शिव भक्त ने नशे की हालत में तोड़-फोड़ कर क्षतिग्रस्त कर दिया। सुबह जब लोगों को इसकी जानकारी हुई, तो घटनास्थल पर सैकड़ों की तादात में शिव भक्त इकट्ठे हो गए और उनमें आक्रोश फैल गया। लोगों ने पुलिस को सूचना दी और लगातार यह मांग करते रहे कि, जब तक उच्चाधिकारी यहां नहीं आ जाते और मूर्ति भंजक को गिरफ्तार नहीं कर लिया जाता, तब तक भीड़ यहां से नहीं हटेगी।
     आपको बता दें कि, मामले की सूचना मिलते ही कोतवाल अरुण कुमार सिंह सबसे पहले दल बल के साथ मौके पर पहुंचे, उसके तुरंत बाद क्षेत्राधिकारी महराजगंज राघवेंद्र चतुर्वेदी और अपर पुलिस अधीक्षक नित्यानंद राय भी मौके पर पहुंच गए तथा लोगों को समझाना बुझाना शुरु कर दिया। इसी दौरान कुछ लोगों द्वारा यह बताया गया कि, गांव का ही सुनील सिंह उर्फ सोनू पुत्र बिंदा बख्श सिंह बीती रात शराब के नशे में धुत होकर मंदिर में शिव लिंग को तोड़ने की बात कह रहा था। पुलिस को मौके पर एक झोला और कुछ कपड़े व सामान बिखरा हुआ मिला जिसकी पहचान लोगों ने सुनील सिंह के सामान होने के रूप में किया इसके पश्चात मौके पर ही कुल्हाड़ी भी मिली। जिससे प्रहार कर शिवलिंग को खंडित किया गया था।
     कोतवाल अरुण कुमार सिंह ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि, अभियुक्त की तत्काल गिरफ्तारी की जाएगी। अपर पुलिस अधीक्षक और क्षेत्राधिकारी के निर्देश पर तत्काल पुलिस की कई टीमें बनाकर संभावित स्थानों पर जहां अभियुक्त हो सकता था, तत्काल रवाना कर दी गई। थोड़ी ही देर बाद हल्का दरोगा विभाकर शुक्ला के नेतृत्व में पुलिस की टीम ने मऊ बाजार स्थित ललित गुप्ता के प्रतिष्ठान के ठीक सामने एक गुमटी के पीछे अभियुक्त छुपा बैठा मिला। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जब पूछताछ की, तो उसका जवाब भी चौंकाने वाला था। पुलिस को उसने बताया कि, वह काफी दिनों से शिव की पूजा आराधना कर रहा था। जब भगवान शिव ने उसकी मनोकामना पूर्ण नहीं की, तो वह गुस्से में आकर शिवलिंग पर कुल्हाड़ी से प्रहार कर उसे तोड़ दिया। अभियुक्त को पकड़कर पुलिस थाने ले आई है।
     उधर मौके पर पहुंचे भाजपा के पूर्व उपाध्यक्ष विद्यासागर अवस्थी, ब्लाक प्रमुख सत्येंद्र प्रताप सिंह और पूर्व प्रमुख महेंद्र सिंह तथा ग्राम प्रधान पति रामबरन यादव आदि के समझाने बुझाने पर लोग मौके से अपने घरों को वापस चले गए।
     वहीं मौजूद लोगों ने पूरे धार्मिक विधि विधान के साथ खंडित शिवलिंग को डलमऊ स्थित गंगा नदी में जाकर विसर्जित कर दिया है। दूसरी ओर मौजूद इन सभी लोगों ने सर्वसम्मति से जयपुर से नया शिवलिंग लाकर पुनः यहां स्थापित कर प्राण प्रतिष्ठा कराने का निर्णय लिया है। मामले में ग्राम प्रधान की तहरीर पर पुलिस ने अभियुक्त के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कर उसे गिरफ्तार कर लिया है, और जेल भेजने की तैयारी कर रही है।
   वहीं मामले में अपर पुलिस अधीक्षक नित्यानंद राय ने बताया कि, मामले की सूचना पर पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए खंडित शिवलिंग बरामद कर लिया है और अभियुक्त को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है। पुलिस की तत्परता से ग्रामीण पूरी तरह संतुष्ट है। अभियुक्त के विरुद्ध कड़ी वैधानिक कार्यवाही की जाएगी।
     इस मौके पर कुशल व्यवसाई व समाजसेवी राजकुमार सिंह उर्फ मोंगा, भाजपा नेता देवेन्द्र सिंह उर्फ अमित, रणविजय सिंह एडवोकेट, भोलू सिंह, हरिहर सिंह, रानू सिंह, बाबूजी डोमा पुर सहित सैकड़ों की तादाद में लोग मौजूद रहे।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post
loading...