वोट मांगने आये JDU विधायक को ग्रामीणों ने बनाया बंधक, इस शर्त पर विधायक जी को किया रिहा


बिहार के आगामी विधानसभा चुनाव से पहले कोरोना (कोरोनावायरस) और अब बाढ़ (बाढ़) जैसे संकटों का सामना कर रहे आम आदमी का गुस्सा अब जन अधिकारियों पर खुलकर सामने आ रहा है। हाल ही में कुशेश्वरस्थान (कुशेश्वर अस्थान) के विधायक (विधायक) को ग्रामीणों ने उनकी अनदेखी किए जाने के आरोप में दूसरी बार बंधक बनाया।
दरअसल कुशेश्वरस्थान विधानसभा क्षेत्र के लोग अपने वर्तमान जदयू (जेडीयू) विधायक शशिभूषण हाबारी (शशिभूषण हजारी) से काफी नाराज दिख रहे हैं। कुछ दिन पहले ही सड़क के मुद्दे को लेकर विधायक जी को बंधक बनाया गया था। अब एक नया वीडियो वायरल (वायरल वीडियो) हो रहा है जिसमें फिर से विधायक जी को ग्रामीणों का गुस्सा झेलते हुए देखा गया है।
ताजा मामला कुशेश्वरस्थान के ब्रह्मपुर में देखने को मिला है जहां लोगों ने स्थानीय विधायक शशिभूषण हाबारी के खिलाफ खूब नारे लगाए और उन्हें कई घंटे तक रोक कर जबरदस्ती बैठाए रखा। मेजबानी बने दरभंगा (दरभंगा) के कुशेश्वरस्थान के विधायक शशिभूषण हाबारी मंगलवार को क्षेत्र भ्रमण के लिए निकले थे जहां ब्रह्मपुर गांव के ग्रामीणों ने उन्हें रोका और चारों ओर से घेरते हुए उन पर सवालों के गुलजार कर दी।
युवाओं ने अपने विधायक के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। लोगों का आरोप था कि पूरा क्षेत्र बाढ़ में डूबा हुआ है और विधायक पिछले कई दिनों से लापता थे। आम लोगों की समस्याओं पर ध्यान न देने को लेकर ब्रह्मपुर गाँव के ग्रामीणों ने विधायक शशिभूषण हाबारी को खूब खरी खोटी सुनाई।
ग्रामीणों का गुस्सा इस बात को लेकर है कि उनके क्षेत्र में सड़क, स्वास्थ्य और शिक्षा व्यवस्था की हालत बहुत खराब है, जिसकी शिकायत विधायक जी से पहले कई बार की गई लेकिन विधायक जी उनकी कोई सुध नहीं ले रहे। गांव के युवकों ने विधायक जी से जवाब मांगा कि गांव को बुनियादी सुविधाओं के लिए कब तक संघर्ष करना पड़ेगा।
विधायक के जवाब से असंतुष्ट युवाओं ने उन्हें रोलो होस्ट बनाकर उनके खिलाफ नारेबाजी की। इस दौरान विधायक और लोगों के बीच जन समस्याओं को लेकर तीखी बहस भी हुई। असमंजस का माहौल बना रहा। अन्त में पुलिस बल के सहयोग से सुरक्षाकर्मियों ने किसी तरह से विधायक को लोगों के बीच से निकाल कर गाड़ी में बैठाकर मौके से छोड़ दिया।

Post a Comment

0 Comments