प्राण जाय पर बचन ना जाई-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।। Raebareli news ।।

6 वर्ष 3 माह पूर्व, प्रधानमंत्री मोदी ने अयोध्या में खाई थी श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण की सौगंध, जिसे पूरा करने आ रहे अयोध्या
सुभाष पांडेय (वरिष्ठ पत्रकार)
रायबरेली: देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने फैज़ाबाद अयोध्या की धरती पर जी आई सी ग्राउंड में 5 मई 2014 को साय 5 बजे लोक सभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी द्वारा आयोजित भारत विजय रैली में फैज़ाबाद लोकसभा छेत्र के प्रत्याशी लल्लू सिंह और अम्बेडकर नगर के लोकसभा छेत्र के प्रत्याशी हरि ओम पाण्डेय के पक्ष में चुनावी जनसभा को संबोधित किया था, अयोध्या की धरती पर खचाखच भरे जी आई सी ग्राउंड जनसभा को संबोधित करते हुए नरेंद्र मोदी ने मुट्ठी बांधकर दोनो भुजाओं को उपर उठा कर, मंच पर लगे श्री राम जन्म भूमि मंदिर मॉडल सहित मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम के चित्र की ओर इशारा करते हुए और बिना राम मंदिर का नाम लेते हुए मंच से  सौगंद खाई थी कि प्राण जाय पर बचन ना जाई।
      आपको बता दें कि, श्री मोदी ने चुनाव आचार्य संहिता को ध्यान में रखते हुए अयोध्या में प्रभु श्री राम मंदिर निर्माण को इशारे से संकेत देते हुए अपनी दोनों भुजाओं को उठाते हुए सौगंध खाई थी। उन्होंने जनसमूह के मध्य तीन बार गगन भेदी जय श्री राम के उदघोष के साथ कहा था कि, यहाँ राम है ये राम की धरती है, यहां झूठ नहीं बोला जाता है, प्राण जाय पर बचन न जाई, आज उस सौगंध के 6 वर्ष 3 माह पूरे होने वाले हैं, और 5 अगस्त 2020 को दिन में 12:30 बजे देश के यसस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी धर्म की धरा अयोध्या में भगवान श्री राम की जन्मभूमि पर, सताब्दियो के सपने को पूरा करते हुए प्रभु श्री राम के भब्य मंदिर की भूमि पूजन करने और आधारशिला रखने जा रहे है। 
      5 अगस्त 2020, विश्व के इतिहास के पन्नो पर स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाना है, क्योंकि दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश भारत के 90 करोड़ों हिंदुओ के आराध्य भगवान श्री राम की जन्मभूमि पर प्रभु श्री राम के भव्य मंदिर का निर्माण होने जा रहा है।  इस शुभ घड़ी को आने के लिए और अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण करने के लिए असंख्यों बलिदानियों ने अपना बलिदान देकर अपने रक्त से इस धर्म की धरा को सींचा है। 5 अगस्त 2020 को जब दोपहर में 12:30 बजे माँ भारती का सच्चा सपूत औऱ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी श्री राम जन्मभूमि मंदिर की आधारशिला रख रहे होंगे, तो उस समय स्वर्ग से उन बलिदानी बेटो की पुष्प वर्षा होगी जिन्होंने अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए अपने प्राणों की आहुति दी। 
      पौराणिक काल में विक्रमादित्य द्वारा पुनर्निर्माण कराई गई अयोध्या नगरी का  विश्व के  छितिज पर पुनर्निर्माण होने जा रहा है। जुड़वा शहर फैज़ाबाद अयोध्या पूरा का पूरा राम मय हो गया है। औलोकि अयोध्या नगरी दुल्हन की तरह सज कर तैयार हो गई, बस उसे 5 अगस्त 2020 यानी आज दोपहर 12:30 बजे उस घड़ी का इंतजार है, जब देश के प्रधानमंत्री भव्य श्री राम जन्मभूमि मंदिर की आधारशिला रख कर 6 वर्ष 3 माह पूर्व खाई अपनी सौगंध को पूरा करेंगे।

Post a Comment

0 Comments