रायबरेली में लेखपाल ने किसान से ली रिश्वत, वीडियो वायरल होने के बाद लेखपाल हुआ सस्पेंड


महताब खान
रायबरेली। उत्तर प्रदेश को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने का दावा कर सत्ता में आई भारतीय जनता पार्टी की योगी सरकार भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने में नाकाम साबित हो रही है।
जमीन का नाप करने के एवज में एक लेखपाल ने 5 हजार रुपए की सुविधा शुल्क को वसूल किया। रिश्वतखोरी का वीडियो वायरल होने से प्रशासन में हड़कंप मच गया जिसके बाद जिलाधिकारी ने लेखपाल को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है।
मिली जानकारी के मुताबिक लेखपाल रामसमुझ ने शिवगढ़ ब्लाक के गांव दहिगवां निवासी अयोध्या प्रसाद मौर्य से जमीन को नापने के एवज में 5 हजार रुपये की अवैध वसूली की। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। किसान से ली गई रिश्वत ने सरकार और प्रशासन को सवालों के कटघरे में खड़ा कर दिया।
उप जिलाधिकारी विनय मिश्रा ने बताया कि मामले को गंभीरता से लेते हुए लेखपाल रामसमुझ को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है और समस्त कर्मचारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि आम जनता से किसी भी प्रकार की अवैध वसूली न की जाए अन्यथा सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Post a Comment

0 Comments