महिला डाक्टर ने पति को Whatsapp पर लिखा मैसेज, बेटी का ख्याल रखना और फिर......


अब मेरी बेटी का ख्याल रखना, मैं जा रही हूं...। ताजगंज के विभव वेली व्यू अपार्टमेंट में आत्महत्या की कोशिश करने वालीं डॉ. दीप्ति अग्रवाल ने पति के व्हाट्स एप नंबर पर यही मैसेज भेजा था। पुलिस की जांच में यह बात सामने आई है। पुलिस ने उनके पति हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. सुमित अग्रवाल और ससुर डॉ. एससी अग्रवाल के बयान दर्ज किए हैं।

विभव वेली व्यू अपार्टमेंट के रहने वाले डॉ. सुमित अग्रवाल सोमवार शाम छह बजे अस्पताल से घर पहुंचे थे। पत्नी डॉ. दीप्ति का कमरा अंदर से बंद था। उन्होंने खिड़की से देखा।

दीप्ति फंदे से लटकी थीं। उन्होंने दरवाजा तोड़कर अंदर प्रवेश किया। इसके बाद डॉ. दीप्ति को प्रतापपुरा स्थित अपने अस्पताल में भर्ती कराया। हालत में सुधार नहीं होने पर परिजन डॉ. दीप्ति को फरीदाबाद के सर्वोदय अस्पताल ले गए, जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है।

एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद ने बताया कि डॉ. दीप्ति का लिखा एक नोट मिला है। यह कमरे की तलाशी में बरामद हुआ है। उसकी जांच की जा रही है। इसमें किसी तरह की परेशानी नहीं लिखी है। यही लिखा है कि मैं जान दे रही हूं। इसमें किसी का कोई दोष नहीं है।

हैंड राइटिंग की जांच के लिए उसे एफएसएल में भेजा जाएगा। इसके अलावा दीप्ति ने पति के व्हाट्स एप नंबर पर मैसेज किए थे। लेकिन डॉ. सुमित ने घटना के काफी देर बाद मैसेज देखे। कई बिंदुओं पर जांच की जा रही है। पति-पत्नी में किसी तरह का विवाद सामने नहीं आया है। पारिवारिक विवाद को लेकर परिजनों से पूछताछ की जाएगी।

Post a Comment

0 Comments