1200 KG गांजे के साथ BJP नेता गिरफ्तार, मीडिया में सन्नाटा


सुशांत सिंह राजपूत केस में कनेक्शन को लेकर शोविक चक्रवर्ती और रिया चक्रवर्ती का पूरी मीडिया में जिस तरह पिछले 1 महीनों से मुद्दा बनाया गया, जिसके बाद पूरी मीडिया और बीजेपी को लेकर रिया चक्रवर्ती पर हमलावर हैं, अब वही कर्नाटक में बीजेपी कार्यकर्ता 1200 KG गांजा के साथ पकड़े जाने पर सबने चुप्पी साध ली है।

सुशांत सिंह राजपूत के मौत के बाद क्या आशंका जताई जा रही थी कि सुशांत सिंह राजपूत की हत्या की गई है, परिवार वालों ने सुशांत के गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती पर उनकी हत्या करने का आरोप लगाया था, जिसके बाद उनके परिवार वालों ने सीबीआई जांच की मांग की। केंद्र सरकार ने सीबीआई को हरी झंडी देकर जांच करने का आदेश भी दे दिए।

परंतु सीबीआई जांच में रिया चक्रवर्ती के खिलाफ सुशांत सिंह राजपूत की हत्या करने का कोई सबूत नहीं मिला। जिसके बाद रिया चक्रवर्ती के व्हाट्सएप चैट से पता चला कि रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शोभिक चक्रवर्ती ड्रग्स लेते थे, जिसके बाद NCB ने कार्रवाई करते हुए शोभिक चक्रवर्ती और रिया चक्रवर्ती से पूछ ताछ कि और बहुत दिनों के पूछताछ के बाद NCB ने शोविक चक्रवर्ती और रिया चक्रवर्ती को 14 दिनों के रिमांड पर जेल भेज दिया।

जिसके बाद पूरी मीडिया में ड्रग एंगल को लेकर रिया चक्रवर्ती के खिलाफ बीजेपी और उनके पत्रकारों में शोर मचाना शुरू कर दिया, रिया के बारे में ड्रग एंगल को लेकर ऐसा कुछ नहीं बचा जो बीजेपी वालों ने ना कहां हो,

कर्नाटक के कलबुर्गी जिले में 1200 KG गांजा के साथ बीजेपी नेता पकड़ा गया, यह बीजेपी का दबंग लेवल का कार्य कर था उसका नाम चंद्रकांता चौहान बताया जा रहा है और उसकी उम्र 34 साल है, चंद्रकांत चौहान का कर्नाटक के कलबुर्गी जिले के कलगी तालुके में लच्छा नामक टांडा का रहने वाला है, चंद्रकांत चौहान ने बकायदा बूथ लेवल कार्यकर्ता के तौर पर 2019 में हुए कर्नाटक चुनाव में बीजेपी के लिए चुनाव प्रचार भी किया था।

पुलिस का कहना है कि पुलिस स्टेशन के पास से ही 1200 KG गांजा बरामद किया गया, इस मामले में चंद्रकांता चौहान नामक बीजेपी के कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है, पुलिस ने यह भी बताया कि यह गांजा गिरोहों का एक छोटा सा प्यादा है अभी और भी लोगों की गिरफ्तारी होनी बाकी है।

वही चिचोली तालुके के बीजेपी युवा मोर्चा के प्रेसिडेंट विष्णुकांत ने माना कि चंद्रकांत चौहान बीजेपी का ही कार्यकर्ता हैं और 2019 में कर्नाटक में हुए उपचुनाव में बूथ लेवल कार्यकर्ता के तौर पर उसने बीजेपी कैंडिडेट अविनाश जादव चुनाव प्रचार भी किया था। हालांकि इसके बावजूद बीजेपी नेता विष्णुकांत यह कहकर मामले को टालने की कोशिश कर रहे हैं कि वह एक बीजेपी कार्यकर्ता तो हैं पर उसे कोई बड़ी जिम्मेदारी नहीं दी गई थी।

Post a Comment

0 Comments