आपकी खुराक का इंतज़ाम हो चुका है?


युसूफ किरमानी 
बहुत सफाई से जाल बिछाया गया है...ग़ौर करेंगे तो मेरी बात समझ में आएगी... संसद का सत्र शुरू हो चुका है। संसद में बहस के मुद्दे क्या होने चाहिए - कोरोना से लड़ने में सरकार की नाकामी, अस्पतालों की बदहाली,  डूबती अर्थव्यवस्था, बेरोज़गारी, हरियाणा में किसानों की पिटाई, किसान विरोधी तीन अध्यादेश, यूपी की कानून व्यवस्था....
लेकिन मोदी सरकार बहुत चालाकी से सभी दलों को कहाँ घेर कर लाई है, दिल्ली में हुए जनसंहार (#DelhiPogrom  #DelhiGenocide  #delhibloodbath ) पर...ताकि बहस के केन्द्र में वही हिन्दू मुसलमान नैरेटिव बना रहे। इसके लिए उमर ख़ालिद को गिरफ्तार कर लिया गया है। सीताराम येचुरी, योगेन्द्र यादव, अपूर्वानंद आदि के नाम एफआईआर में डाले गए हैं। कुछ लोग घरों पर दिल्ली पुलिस के सम्मन का इंतज़ार कर रहे हैं।
राहुल गांधी समेत विपक्ष के तमाम नेता देश के गंभीर मुद्दों को जिस तरह उठा रहे थे, उसकी काट दिल्ली के दंगों में तलाशी गई है।
टीवी चैनलों को कहा गया है कि वे उमर ख़ालिद मामले को खूब फ़ुटेज दें। जो इसका विरोध करें, उन्हें भी खूब प्रचारित करें। यानी हिन्दू मुसलमान जितना हो सके उतना करें।
अब बताइए, इन हालात में आप क्या कर लेंगे? आप कुछ नहीं कर सकते...क्योंकि जो हम लोगों को पसंद है मोदी सरकार ने उस खुराक का इंतज़ाम कर दिया है। खाइए अपनी अपनी खुराक...

Post a Comment

0 Comments