भारतीय किसान यूनियन ने अपनी मांगों को लेकर उप जिलाधिकारी को सौंपा 3 सूत्रीय ज्ञापन।। Raebareli news ।।

  


शिवाकांत अवस्थी

महराजगंज/रायबरेली: केंद्र सरकार द्वारा संसद में पारित कराए गए नए कृषि विधेयक को लेकर अब ग्रामीण क्षेत्रों में भी विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया है। इसी क्रम में भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक उत्तर प्रदेश की शाखा तहसील महराजगंज के अध्यक्ष पूर्णमासी साहू के नेतृत्व में दर्जनों कार्यकर्ताओं ने ब्लॉक में बैठकर विधेयक को किसान विरोधी बताते हुए धरना दिया। इसके उपरांत किसान यूनियन के पदाधिकारी तहसील में जाकर एसडीएम विनय कुमार मिश्रा से मिले और उन्हें 3 सूत्रीय ज्ञापन देकर समस्याओं से अवगत कराया।



   आपको बता दें कि, राष्ट्रीय नेतृत्व के निर्देश पर भाकियू नेता पूर्णमासी साहू ने कहा कि, भाजपा की केंद्रीय सरकार द्वारा जो कृषि विधेयक संसद में पारित कराया गया है। वह विधेयक मूल रूप से किसान के हितों के विपरीत है। इस बिल को कानून के रूप में लागू होने पर किसानों की रोजी रोटी और उनकी खेती बाड़ी खतरे में पड़ जाएगी। बड़ी-बड़ी कंपनियों के लोग किसानों के खेतों पर कब्जा कर लेंगे और किसान भुखमरी के कगार पर आ जाएगा। इसलिए इस बिल को वापस लेने के लिए पूरे देश का किसान आंदोलित है।

    इसी क्रम में ब्लॉक अध्यक्ष शिवगढ़ संगम लाल ने कहा कि, क्षेत्र भर में आवारा पशुओं की वजह से किसान बहुत त्रस्त है। देखते ही देखते सैकड़ों की तादात में छुट्टा जानवर किसानों की फसलें चट कर जा रहे हैं। इन जानवरों से किसानों को निजात दिलाया जाए। इसी क्रम में शिवगढ़ ब्लॉक के महामंत्री महादेव प्रसाद ने कहा कि, पूरी तहसील क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति व्यवस्था ध्वस्त हो गई है, और किसानों व उपभोक्ताओं को गलत तरीके से बेतहाशा बढ़े हुए बिजली के बिल भेजे जा रहे हैं। जिससे हाहाकार मचा हुआ है। इसकी भी जांच करा कर गलत भेजे जा रहे बिलों को वापस लेकर उचित बिल भेजे जाएं।



    इसके अलावा भाकियू कार्यकर्ताओं ने भौसी में आयुर्वेदिक चिकित्सालय को ग्राम पंचायत भौसी में संचालित करने की मांग की है। मांग पूरी ना होने पर किसानों ने आर-पार की लड़ाई लड़ने का निर्णय लिया है। भारी पुलिस सुरक्षा बल जिसका नेतृत्व कोतवाल श्री राम कर रहे थे। भाकियू नेताओं ने एसडीएम विनय कुमार मिश्रा को ज्ञापन सौंपा।

   इस मौके पर मोहम्मद शब्बीर, राजबहादुर, रामकिशोर, राम शंकर मिश्रा, उमाकांत, राममिलन, देवानंद, प्रेमचंद्र, रामकिशोर, जीवनलाल, मैंकू, दुर्गेश कुमार आदि मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments