न्यूज़ चैनलों को उद्धव सरकार की सुपारी दे दी गयी है...


गिरीश मालवीय 
पहले सुशान्त - रिया ओर फिर कंगना प्रकरण से यह साफ दिख रहा है,.......जहाँ कँगना का जोर कम होते दिखा तो नया प्रोपेगैंडा खड़ा कर दिया गया.........
बीजेपी आईटी सेल के बनाए गए मीम जिसे कार्टून कहा जा रहा है उसे शेयर करने पर मुंबई में मदन शर्मा के साथ शिवसेना कार्यकर्ताओं ने मारपीट की घटना को अंजाम दिया गया ......किसी भी बुजुर्ग के साथ ऐसी घटना को अंजाम देना वाकई निंदनीय है
लेकिन जिस तरह से न्यूज़ चैनल्स इस घटना को कवर कर रहे है यह साफ दिख रहा है कि उध्दव ठाकरे के खिलाफ एक बड़ा कैम्पेन ऑर्गेनाइज तरीके से चलाया जा रहा है, अब मदन शर्मा जी की प्रेसकांफ्रेन्स को प्रमुखता से दिखाया जा रहा है अब रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी इस विवाद में कूद पड़े हैं
मदन शर्मा उध्दव ठाकरे का इस्तीफा मांग रहे हैं ......ठीक है उनके साथ गलत हुआ है  लेकिन यही न्यूज़ चैनल क्यो योगी सरकार के कुकर्मों के खिलाफ आवाज नही उठाते है
अभी कुछ ही दिन पहले उत्तर प्रदेश में उन्नाव रेप केस के मामले में सीबीआई ने उन्नाव में तैनात रही तीन महिला अफसरों समेत चार अधिकारियों पर कार्यवाही के लिए सिफारिश की .....साफ दिख रहा है कि योगी आदित्यनाथ सरकार ने पूरा जोर कुलदीप सिंह सेंगर को बचाने में लगा दिया था
आखिर उनसे क्यो नहीं इस्तीफा मांगा जाता ? और अगर मांगा जाता है तो उसकी खबर क्यो नही दिखाई जाती !......ये गैर बीजेपी राज्य सरकारों के खिलाफ जो एक नैरेटिव पब्लिक में सेट किया जा रहा है यह ट्रेंड बहुत खतरनाक है यह मीडिया का मनमाना इस्तेमाल है

Post a Comment

0 Comments