डा. चंदेल के अमानवीय व्यवहार पर जिला प्रशासन की सख्त कार्रवाई, आस्था चाइल्ड केयर की स्वास्थ्य सेवाएं निलंबित


महताब खान 
रायबरेली। आस्था चाइल्ड केयर मैं एक बच्ची की मौत के बाद उसके परिजनों से डॉक्टर चंदेल के आक्रामक वीडियो को जिला प्रशासन ने बड़ी गंभीरता से लिया है। सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद देर रात अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व के नेतृत्व में प्रशासनिक टीम ने चाइल्ड केयर पहुंचकर मामले की पड़ताल की।
इस दौरान उच्चाधिकारियों ने डॉक्टर से पूछताछ के साथ ही वहां काम करने वाले कर्मचारियों के भी बयान दर्ज करवाए हैं। इस संबंध में अपर जिला अधिकारी प्रेम प्रकाश उपाध्याय ने बताया कि प्रथम दृष्टया जांच में वायरल वीडियो की सत्यता प्रमाणित हुई है। जिसके बाद नर्सिंग होम की चिकित्सकीय सेवाओं को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।
उल्लेखनीय है कि रविवार को सोशल मीडिया पर आस्था चाइल्ड केयर में एक बच्ची की मौत के बाद उसके परिजनों से डॉक्टर चंदेल द्वारा जिस तरह का व्यवहार वीडियो में देखने को मिला उसने सभ्य समाज को झकझोर कर रख दिया। लोग हैरत में थे कि एक चिकित्सक की भाषा शैली और उसका बर्ताव गरीबों के हक में इतना सड़क छाप कैसे हो सकता है? डॉक्टर के इस अमानवीय व्यवहार की दिन भर जमकर आलोचना हुई। साथ ही बड़े पैमाने पर लोग प्रकरण में जिला प्रशासन से कार्यवाही की अपेक्षा कर रहे थे।
इसी बीच देर रात अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व, नगर मजिस्ट्रेट मुख्य चिकित्सा अधिकारी और शहर कोतवाल चाइल्ड केयर पर पहुंच गए। उन्होंने वायरल वीडियो को लेकर डॉक्टर चंदेल से गहनता से पूछताछ की। जांच पड़ताल के दौरान खुद का बचाव करते हुए डॉक्टर चंदेल ने बताया कि मृतक के परिजन आक्रामक होकर कैची लेकर हम पर हमलावर थे।
जिन्हें डांट कर समझाया बुझाया गया। इस संबंध में जब एडीएम से बात की गई तो उन्होंने बताया कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो जांच में सही पाया गया है। पीड़ित परिजनों से बात की गई तो उन्होंने बताया कि वह बच्ची की लाश लेकर जा चुके हैं और उन्हें अभी इस पर कुछ नहीं कहना है।
बहरहाल डाक्टर द्वारा बचाव में दिए गए बयान की सत्यता जांचने के लिए जांच टीम ने सोमवार को अस्पताल प्रबंधन से सीसीटीवी फुटेज मंगवाई और संयुक्त रूप से पर विस्तृत आख्या तैयार कर अग्रिम कार्रवाई के लिए जिलाधिकारी को भेज दिया है। अब देखने वाली बात होगी कि हाई प्रोफाइल इस मामले डीएम की तरफ से क्या एक्शन लिया जाता है।

Post a Comment

0 Comments