बाइक चोरी के आरोप में भीड़ ने ढाई घंटे तक दो युवकों को पीटा, एक की मौत, दूसरे की हालत गंभीर

पानीपत।  पानीपत जिले की जिले की चांदनी बाग थाना क्षेत्र के खटीक बस्ती में  देर रात करीब ढाई बजे बाइक चोरी का आरोप लगा लोगों ने दो युवकों को बांधकर लाठी डंडों से जमकर पीटा। भीड़ द्वारा उन्हें इतना अधिक पीटा गया कि पीटते हुए 5 से ज्यादा डंडे टूट गए। चोरी करने के संदिग्‍धों को पुलिस के पास ले जाने के बजाय एक युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी। भीड़ उन्‍हें तकरीबन ढाई घंटे तक पीटती रही।
बाइक चोरी के आरोप में लोगों ने दो नाबालिगों को पकड़ा और बंधक बनाकर करीब ढाई घंटे तक रॉड और डंडों से पीटा। इनमें से एक की अस्पताल में मौत हो गई। पुलिस ने 14 लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। पुलिस ने अजय की हत्या के आरोप में 10-12 लोगों के खिलाफ हत्या सहित 4 धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है। आरोपितों की गिरफ्तार के बाद ही स्पष्ट होगा कि दोनों किशोर बाइक चोरी का प्रयास कर रहे थे या नहीं, फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।
घटना आधी रात के बाद करीब 2:30 बजे की है।  खटीक बस्ती के कई लोगों ने बताया कि दो नाबालिग संदिग्ध हालात में गली में घूम रहे थे। इन्होंनें ने एक घर के बाहर खड़ी बाइक का ताला तोड़ने का प्रयास किया। गली के कई युवकों ने दोनों को पकड़ कर पीटा। इनमें से एक चंगुल से छूटकर भाग गया। युवकों ने दूसरे नाबालिग से कॉल कराई और कहा कि उसे छोड़ दिया गया है, वापस आ जाओ। जब वह वापस लौटा तो दोनों नाबालिगों के हाथ-पांव बांधकर रॉड व डंडों से पीटा गया।
सूचना पर पहुंची किशनपुरा चौकी पुलिस गंभीर हालत में दोनों को अस्पताल ले गई, जहां डाक्टरों ने एक को मृत घोषित कर दिया जबकि दूसरे को पुलिस ने हिरासत में लिया है। दोनों की पहचान उत्तर प्रदेश के शामली जिला के झिंझाना निवासी अजय (मृतक) और उसके दोस्त सौरभ के रूप में हुई है। सौरभ की सूचना पर चौकी किशनपुरा पहुंचे अजय के परिजनों ने दोनों को बेगुनाह बताया। उनका कहना है कि 12 वीं पढ़ने वाला अजय नौकरी की तलाश मे आया था। उसने हत्या की शिकायत दी।
पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। सौरभ ने दोपहर को कॉल कर अपने परिजनों को घटना की जानकारी दी। देर शाम तक वह पानीपत पहुंच गए। मृतक के भाई राहुल ने बताया कि वह शाम को चौकी किशनपुरा पहुंचे, लेकिन पुलिस ने जानकारी देने से इनकार कर दिया। इसके बाद वह सिविल अस्पताल में पहुंचे। वहां उन्होंने अजय की शिनाख्त करा दी। सुबह वह फिर से चौकी किशनपुरा पहुंचे। वहां उन्हें सौरभ मिल गया।
सौरभ ने बताया कि चोरी के प्रयास की बात गलत है। वह दोनों घूमते हुए खटीक बस्ती पहुंच गए थे। कुछ युवकों ने चोर-चोर का शोर मचा दिया। लोगों ने उन्हें पकड़ लिया। उनकी एक नहीं सुनी और पीटना शुरू कर दिया। भाई राहुल ने बताया कि अजय कक्षा 12वीं का छात्र था। वह सौरभ के साथ 14 सितंबर को पानीपत में नौकरी देखने की बात कहकर निकला था। इसके बाद 2-3 बार फोन पर बात हुई थी।
चांदनीबाग थाना एसएचओ अंकित ने कहा कि जिन लोगों ने बाइक चोरी करने का आरोप लगाया था उनकी तरफ से कोई शिकायत नहीं मिली है। मृतक के भाई राहुल की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है। मामले की जांच की जा रही है। उसके बाद ही साफ हो सकेगा कि मामला बाइक चोरी का है या कुछ और।

Post a Comment

0 Comments