रायबरेली का ये सरकारी अस्पताल बना भैंस का तबेला


राम भवन 
रायबरेली: जिले के  विकास खण्ड डीह क्षेत्र  के उप स्वास्थ्य केन्द्र टेकारी दांदू में अव्यवस्थाओं का बोलबाला चरम पर है।जहां स्वास्थ्य विभाग की घोर उदाशीनता से उप स्वास्थ्य केन्द्र भैंस का तबेला बनता दिखायी दे रहा है।
जहां गांव के ही दबंगो द्वारा उप स्वास्थ्य केन्द्र में खुलेआम जानवर (मवेशी)बांधने के साथ ही अस्पताल परिसर में ही भूसा एवं घूर लगा कर अतिक्रमण करने का मामला प्रकाश में आया है।
बतातें चलें कि ग्राम पंचायत टेकारी दांदू स्थित पंचायत भवन के पास ही शासन द्वारा लाखों रूपये की लागत से बने प्राथमिक उप स्वास्थ्य केन्द्र टेकारी दांदू में अव्यवस्था का बोलबाला चरम पर है।जहां करीब दो वर्षों से इस अस्पताल में ना तो कोई डाक्टर बैठते है।और ना ही स्वास्थ्य विभाग ने कभी इसकी सुध लेना सही समझा।
जिससे इलाज को लेकर ग्रामीणों को डीह सीएचसी के चक्कर लगाने पड़ रहे है।वहीं विभाग की उदाशीनता से गांव के ही रमाशंकर चौरसिया उर्फ पुत्तन द्वारा अतिक्रमण करते हुये। पूरे अस्पताल परिसर को ही भैंस का तबेला बना कर उस पर कब्जा कर लिया गया है।उक्त व्यक्ति पूरे अस्पताल परिसर में जहां अपने मवेशी बांध कर गंदगी का अंबार लगा रखा है।
वहीं अस्पताल के शेष बचे भाग में ही भूसा एवं घूर आदि रख कर अतिक्रमण कर रखा है।अब सवाल यह भी है कि आखिर इतना सब खुलेआम होने के बावजूद भी आला अधिकारी पूरी तरह से मौन दिखायी दे रहें है। तो वहीं स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार अधिकारी भी जांच एवं कार्यवाही को लेकर पूरी तरह से मूक दर्शक बनें है।जो अपने आपमें कई तरह के सवालिया निशान लगा रहा है।
अब सवाल यह भी है कि आखिर किसके शह पर दबंग द्वारा शासनादेश की खुलेआम धज्जियां उड़ाकर लाखों रूपये की लागत से बने अस्पताल पर अतिक्रमण कर मवेशी बांधे जा रहें है।इस घोर अनियमितता को लेकर आखिर जिम्मेदार लोगों का इस ओर ध्यान कब जायेगा।यह तो आने वाला वक्त ही बतायेगा।
इस बावत सीएचसी अधीक्षक डीह डाक्टर तारिक इकबाल का कहना है कि मामले की जानकारी नही है।अगर ऐसा है तो गलत है।जांच करवा कर सख्त कार्यवाही की जायेगी।और जब सी एम ओ से बात करना चाहा तो उन्होंने फ़ोन उठाना मुनासिब नही समझा ।

Post a Comment

0 Comments