अलीगढ़ में माता-पिता से नाराज 9 साल की बच्ची ने लगाई फांसी


यूपी में अलीगढ़ के बन्नादेवी थाना क्षेत्र की नलकूप कॉलोनी में नौ साल की एक बच्ची ने दुपट्टे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। बच्ची इस बात से नाराज थी कि जरूरी काम से बाहर गए माता-पिता उसे साथ लेकर नहीं गए।  

पड़ोस के लोगों ने कमरे का दरवाजा तोड़कर शव बाहर निकाला। बतादे कि सुभाष शनिवार को अपनी पत्नी ज्योति के साथ मकान देखने मेलरोज बाई पास पर जा रहे थे। इस दौरान छोटी बेटी ने भी साथ चलने की जिद की थी। 

सुभाष और ज्योति उसे यह कहकर चले गए कि तुम घर पर ही रहकर टीवी देखो। हम थोड़ी देर में लौटकर आते हैं. मां-बाप के जाने के बाद बेटा ललित भी दूसरे बच्चों के साथ घर पर खेलने लगा और गुस्से में बेटी ने कमरे का दरवाजा अंदर से बंद कर फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। बतादे कि कुछ देर बाद जब भाई ललित ने दरवाजा खोलने का प्रयास किया तो नहीं खुला। 

इस पर उसने खिड़की से झांका तो बच्ची फंदे पर लटकी हुई थी। इस पर उसने शोर मचाया तो मोहल्ले वालों ने दरवाजा तोड़ा। इसी बीच सुभाष और ज्योति भी लौट आए फिर इसकी सूचना पुलिस को दी गई। तो वही बेटी के इस कदम से परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल है. घर के सभी लोग सदमें हैं। 

मामले पर जानकारी देते हुए डीएसपी सिटी ने बताया कि बन्नादेवी थाना क्षेत्र इलाके में एक 9 साल की बच्ची ने आत्महत्या कर ली। फांसी जिस दुपट्टे से लगाई गई थी, उसे हमने कब्जे में ले लिया है। बच्ची के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्यवाही अमल में की जाएगी। 


Post a Comment

0 Comments