जो पीढ़ियाँ अपने बुजुर्गो को विस्मृति कर देती है वे मिट जाती है

  


बाबा साहब की प्रतिमा स्थल पर मनायी गयी जगजीवन राम पासी की पुण्य तिथि

पांचवी पुण्यतिथि के अवसर पर आयोजित एकता दिवस समारोह

राष्ट्रीय पासी सेना के तत्वाधान में कार्यक्रम आयेाजित

शिवाकांत अवस्थी

रायबरेली: बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा स्थल पर राष्ट्रीय पासी सेना के तत्वाधान में प्रमुख समाजसेवी जगजीवन राम पासी की पांचवी पुण्य तिथि एकता दिवस के रूप में आयोजित की गयी।  

      आपको बता दें कि, इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में पधारे पूर्व डीजीसी ओ.पी. यादव ने कहा कि, जो पीढ़िया अपने बुजुर्गो को विस्मृति कर देती हैं, वह मिट जाती है। राष्ट्रीय पासी सेना के अध्यक्ष संजय पासी बधाई के पात्र हैं, जिन्होनें अपने पिता की स्मृति में कार्यक्रम का आयोजन किया। वरिष्ठ व्यापारी नेता मुकेश रस्तोगी ने कहा कि, जगजीवन पासी अपने जीवनकाल में समाज में फैली कुरीतियों को दूर करने के लिए आजीवन कार्य किया।  बच्चों की शिक्षा को बढ़ावा देने व बाल विवाह के खिलाफ थे।

     इस अवसर पर मुख्य रूप से आदर्श शुक्ला, अशोक मिश्रा, शत्रोहन पटेल, कमलेश चैधरी, जयकान्त सिंह, धर्मेन्द्र दरियाबादी, हिमांशु पासी, हनोमान अम्बेडकर, जयकरन पासी, अयाज खाँ, मो0 शकील, राम प्रसाद पासी, वीरेन्द्र कुमार वर्मा, प्रमोद अम्बेडकर, रवी अम्बेडकर, बबलू अम्बेडकर, मनोज अम्बेडकर, मो0 अब्दुल कलाम, अजहर खाँ, अनूप अवस्थी, मन्नू घोसी, मो0 अली, सत्यम भारतीय, मो0 सलमान, दुर्गेश पाठक, दिनेश पासी, अखिलेश पासी, रज्जन पासी, आदित्य पासी, राकेश पासी, गनेश पपासी, विमलेश पासी, राजकुमार तिवारी, राजेश दीक्षित, शंकर अवस्थी, रामखेलावन बाजपेयी, राघवेन्द्र दुबे आदि लोग उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments