थाने के लॉकअप में फांसी के फंदे पर लटका मिला आरोपी का शव, परिजनों ने पुलिस पर लगाया हत्या का आरोप


दिल्ली के बादली थाना के अंदर लॉकअप में धर्मेंद्र नाम के एक आरोपी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। धर्मेंद्र कश्यप लॉकअप के अंदर फांसी के फंदे से लटका हुआ मिला और आज परिवार को यह जानकारी दी गई कि धर्मेंद्र ने आत्महत्या कर ली है। तो वही नीतू (भांजी) का कहना है कि मेरे मामा जो पहले से जेल में बंद थे वह इतने मजबूत थे कि आजतक उसने सुसाइड की कोशिश नहीं की तो आज क्यों की,पुलिस द्वारा पिटाई करने से उसकी मौत हुई है। 

मरने के बाद शव को पुलिसकर्मियों ने फांसी के फंदे से लटकाया है। दरअसल धर्मेंद्र एक हत्या के मामले में जेल में बंद था और कुछ दिन पहले ही पैरोल पर बाहर आया था बीती रात स्वरूप नगर थाना पुलिस ने बलात्कार के आरोप में धर्मेंद्र को हिरासत में लिया था और रात में उसको बादली थाने के लॉकअप में लाया गया। 

परिवार का आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने उसको जबरन शराब पिलाई चार से पांच पुलिसकर्मियों ने जबरदस्त तरीके से मारपीट की और परिवार की मानें तो पुलिस की पिटाई से ही धर्मेंद्र की मौत हुई, जिसको पुलिस आत्महत्या बता रही है। 

परिवार यह भी सवाल खड़े कर रहा है कि अगर आत्महत्या की है तो पुलिस हिरासत में आरोपी के पास रस्सी कैसे आई? बतादे कि ऐसे कई सवाल हैं जो एक थाने के लॉकअप के अंदर आरोपी की मौत के बाद खड़े हुए हैं। पुलिस हिरासत में आरोपी की सीधी जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की होती है। 

फिलहाल अभी तक इस मामले में पुलिस के आला अधिकारी का कोई बयान सामने नहीं आया है और परिवार लगातार पुलिस पर ही हत्या का आरोप लगा रहा है। अब जांच के बाद ही साफ हो पाएगा कि आखिरकार इस पूरे मामले की सच्चाई क्या है। 


Post a Comment

0 Comments