कल संसद में मोदी सरकार ने फिर से मज़ेदार जवाब दिए



दिलीप खान 

संसद में कल मोदी सरकार ने फिर से मज़ेदार जवाब दिए. सरकार ने अलग-अलग सवालों के जो लिखित जवाब दिए, उनमें से 4 पढ़िए. 

1. अडानी को 6 हवाई अड्डे (अहमदाबाद, जयपुर, लखनऊ, गुवाहाटी, तिरुवनंतपुरम और मंगलुरू) बेचने के बाद सरकार 6 और हवाई अड्डे बेचने की तैयारी कर चुकी है. ये एयरपोर्ट्स हैं- तिरुचिरापल्ली, भुवनेश्वर, इंदौर, वाराणसी, रायपुर और अमृतसर.

2. रेलवे में इस वक़्त ग्रुप सी और डी के 2 लाख 90 हज़ार पद ख़ाली हैं. 2018-19 में इन दोनों श्रेणियों में 51,834 लोग रिटायर हुए, लेकिन सरकार ने मात्र 6,493 लोगों को भर्ती किया. 2014-15 से ही ये सिलसिला बदस्तूर जारी है. नई नौकरियां तो छोड़ दीजिए, जितने लोग इन 5 वर्षों में रिटायर हुए, उनसे 89,813 कम लोगों को भर्ती किया गया. ग्रुप सी में तो आधी भर्तियां भी नहीं हुईं. 

3. देश में 1031 लोग ऐसे हैं, जिन्होंने अपनी पूरी सज़ा काट ली है, फिर भी जेलों में बंद हैं. इन लोगों के पास ज़ुर्माना भरने के लिए पैसे नहीं है. जेल पहले से ओवर-क्राउडेड है. क्षमता से क़रीब 75 हज़ार ज़्यादा लोग जेल में बंद हैं. जेल में बंद लोगों में दो तिहाई लोगों पर कोई जुर्म साबित नहीं हुआ है. वे सब विचाराधीन क़ैदी हैं. 

4. सरकार ने लॉकडाउन के दौरान लौटने वाले प्रवासियों की कुल तादाद एक करोड़ 4 लाख बताई. लेकिन, 12 राज्यों का आंकड़ा दिया ही नहीं. इनमें गुजरात, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ और ओडिशा जैसे बड़े राज्य भी शामिल हैं. जो आंकड़े दिए भी गए, वे बहुत विश्वसनीय नहीं लग रहे. सरकार कह रही है कि मात्र 15 लाख प्रवासी बिहार लौटे. ग़ैर-सरकारी आंकड़ा इससे बहुत बड़ा है.

Post a Comment

0 Comments