अमरोहा में कृषि विधेयक बिल के विरोध में किसानों ने किया नेशनल हाईवे जाम


मोहम्मद आसिफ 

उत्तर प्रदेश के अमरोहा जनपद के नेशनल हाईवे 9 पर कृषि विधेयक बिल के विरोध में भारतीय किसान यूनियन भानू गुट ओर भारतीय किसान यूनियन टिकैत गुट ने ओर किसान यूनिन असली गुट के किसानों ने जोरदार प्रदर्शन किया 

अमरोहा में नेशनल हाइवे 9 को 3 अलग अलग जगहों को झनकपुरी, रजबपुर ,अतरासी, में किसानों का धरना रहा झनकपुरी , ओर अतरासी में किसानो ने हाइवे जाम कर दिया किसान नेताओं की मांग की थी कि सरकार कृषि विधेयक बिल को वापस ले और एमएसपी का कानून बनाये

अमरोहा में कृषि विधयेक बिल को लेकर किसानों ने नेशनल हाईवे 9 पर झनकपुरी , रजबपुर, अतरासी , में धरना दिया जिसमें झनकपुरी ओर अतरासी में किसान नेताओ ने हाइवे को जाम कर दिया ओर कृषि विधेयक बिल को वापस लेने की बात कही 

रजबपुर में भारतीय किसान यूनियन भानु के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चौधरी दिवाकर सिंह ने कहा कि सरकार ने बिना सोचे समझे तीन ऐसे काले अध्यादेश ले आई जो किसान विरोधी है और किसानों के हित में नहीं है। उन्होंने कहा कि यह तीनों बिल किसानों के लिए एक काला अध्याय है। चौधरी दिवाकर सिंह ने कहा कि सरकार को इस अध्यदेश को वापस लेने ही पड़ेगा। 

उन्होंने कहा कि देश का किसान जब सरकार बना सकता है तो सरकार को गिरा भी सकता है। चौधरी दिवाकर सिंह ने कहा कि अगर सरकार इस बिल को वापस नहीं लेती है तो किसानों के द्वारा लगातार आंदोलन चलते रहेंगे। उन्होंने कहा कि देश की जीडीपी को बचाने का काम लॉक डाउन और कोरोना वायरस जैसे समय में भी देश के किसानों ने किया है। 

चौधरी दिवाकर ने कहा कि अगर इस बिल के इतने ही फायदे हैं तो सरकार जगह-जगह कार्यशाला आयोजित कर इस बिल का लाभ किसानों को बताएं और अगर सरकार किसान का भला चाहती है तो एमएसपी का कानून बनाये

वही नेशनल हाइवे 9 को अतरासी में भारतीय किसान यूनियन टिकैत गुट के किसानों ने लगभग 1 घण्टा जाम लगये रखा यूनियन के जिलाध्यक्ष ने कृषि विधेयक बिल को वापस लेने की मांग की और कहा कि अगर सरकार बिल को वापस नही लेती तो हम आंदोलन करते रहेंगे और सब कुछ बंद कर देंगे मोके पर प्रशासन के लोगो के पहुँचने ओर समझाने पर जाम खोला गया वही इस दौरान निकलने वाले वाहनों से कई किलोमीटर लम्बा जाम लगा रहा 



Post a Comment

0 Comments