गरीबों शोषितों वंचितों के लिए लगातार काम कर रही है समाज सेविका स्वेता शर्मा

  


शिवाकांत अवस्थी                         

  मथुरा: उत्तर प्रदेश के मथुरा में एक मध्यम वर्गीय परिवार में पैदा हुई स्वेता शर्मा चार भाई बहनों में सबसे छोटी है, इन्हें शुरू से ही बच्चों को पढ़ाने का शौक रहा, इसी के चलते कामवालियों तथा मजदूरों के बच्चों को बैठा कर पढ़ाया करती थी।

    आपको बता दें कि, मध्यम वर्गीय परिवार में पली-बढ़ी श्वेता शर्मा की शादी बीएससी फाइनल ईयर में ही पढ़ाई के दौरान हो गई थी, शादी के एक साल बाद (1998) से ही यह रमनलाल शोरावाला स्कूल में LKG UKG के बच्चों को पढ़ाना शुरू कर दिया था।

    बच्चों को पढ़ाते पढ़ाते हर साल एक आगे की क्लास पढ़ाती गई। फिर शिक्षण के साथ साथ इन्होंने अपनी पढ़ाई भी दुबारा शुरू करके MSc व BEd किया।

फिर धीरे धीरे बड़ी कक्षाओ (9 से12) को पढ़ाना आरम्भ किया। इसी बीच मथुरा वृंदावन नगर निगम वार्ड 66 से पार्षद का चुनाव जीतकर विजयश्री हासिल की, तथा अपने वार्ड को स्वच्छ वार्ड प्रतिस्पर्धा में प्रथम स्थान लाकर इन्होंने चुनाव के दौरान जनता से किया वादा पूरा किया। उसके बाद जनवरी 2018 में संस्कार पब्लिक स्कूल में प्रिंसिपल का पदभार ग्रहण किया। साथ ही समाजिक कार्य करते हुए ब्रज यातायात व पर्यावरण जनजागरूकता समिति महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश अध्यक्ष का दायित्व सम्हाला। अपने मृदुल स्वभाव से बखूबी दायित्वों का निर्वहन करते हुए ये सर्व ब्राह्मण महासभा महिला प्रकोष्ठ की आगरा मण्डल अध्यक्ष बनीं और संगठन के दायित्वों का बखूबी निर्वहन करते हुए मजबूती प्रदान की।

     श्वेता शर्मा ने राष्ट्रीय हिंदु युवा वाहिनी महिला प्रकोष्ठ की मथुरा जिलाध्यक्ष का पदभार भी ग्रहण किया। समय समय पर इनके द्वारा रक्तदान, वृक्षारोपण, सफाई अभियान, पशु पक्षियों के लिए दाने पानी का प्रबंध, महिलाओं व लड़कियों के लिए आत्म रक्षा शिविर, रसोई से निकले कचरे का निस्तारण करना, पॉलिथीन मुक्त मथुरा के लिए कैम्प लगाना, कोरोना काल में मास्क बैंक बनाकर लोगों को निःशुल्क मास्क वितरण, लखनऊ में जरूरतमंदों को राशन सामग्री व भोजन उपलब्ध करवाना, समय समय पर जरूरतमंद बच्चों को शिक्षण सामग्री, ब्रश, टूथपेस्ट, चप्पल आदि वस्तुएं वितरित किया और वृद्धाश्रम में कंबल व शाल वितरित करके वृद्धजनों के साथ समय व्यतीत करके समाज सेवा में विशेष योगदान दिया।

      जीवन का उद्देश्य: अशिक्षितों को शिक्षित करना व हर तरह से लोगों की मदद करके अपने देश को समृद्ध व शक्तिशाली बनाने के लिए योगदान देना प्रमुख रहा। श्वेता शर्मा को समाज सेवा के लिए उनको अनेक पुरस्कारों से भी सम्मानित किया जा चुका है। हाल ही में लॉकडाउन से पहले समाज सेवा के लिए दिल्ली में आयोजित सर्व ब्राह्मण महासभा ने अपने राष्ट्र अधिवेशन में उन्हें ब्राह्मण गौरव उपाधि से सम्मानित किया है।

Post a Comment

0 Comments