GDP की दुर्दशा देखकर लोग मनमोहन सिंह को याद कर रहे हैं?


कृष्णकांत 
प्रधानमंत्री रहने के दौरान मनमोहन सिंह ने कहा था कि इतिहास उनका मूल्यांकन करने में उदारता बरतेगा. मनमोहन सिंह ने तब ये नहीं सोचा होगा कि ये वक्त इतना जल्दी आ जाएगा. ट्विटर पर मनमोहन सिंह ट्रेंड कर रहे हैं. जीडीपी की दुर्दशा देख रहे लोग मनमोहन सिंह को याद कर रहे हैं. कभी यूपीए के घोर आलोचक रहे लोग भी मनमोहन सिंह को याद कर रहे हैं.
एक वरिष्ठ पत्रकार का लेख पढ़ा कि 'मनमोहन के आलोचक भी ये मानते हैं कि वे निर्णय लेने में ज्यादा लोगों की राय लेते थे. वे संस्थाओं को महत्व देते थे. वे अर्थव्यवस्था को बेहतर समझते थे. आज वे होते तो कोरोना महामारी को बेहतर संभालते'.
2019 में मनमोहन सिंह ने मीडिया से कहा था, 'मैं नहीं मानता कि मैं कमजोर प्रधानमंत्री हूं. ये फैसला करेंगा. भाजपा और उसके सहयोगी जो चाहे कहते रहें. अगर आप मजबूत प्रधानमंत्री का मतलब ये समझते हैं कि वह अहमदाबाद की सड़कों पर निर्दोषों का नरसंहार देखे,
अगर ये मजबूती का पैमाना है तो मैं नहीं मानता कि इस देश को इस तरह की मजबूती की जरूरत है. मैं ईमानदारी से मानता हूं कि आज के मीडिया की अपेक्षा इतिहास मेरे प्रति उदार रहेगा'. मैं तो यहां तक सोच रहा हूं कि अगर मनमोहन सिंह खराब थे, तब भी नरेंद्र मोदी ने साबित किया कि वे काफी बेहतर थे.

Comments

Popular posts from this blog

Bollywood Celebrities Phone Numbers | Actors, Actresses, Directors Personal Mobile Numbers & Whatsapp Numbers

जौनपुर: मुंगराबादशाहपुर के BJP चेयरमैन ने युवती के साथ कई महीने तक किया बलात्कार, देखें वायरल वीडियो

किन्नर बोले- अगर BJP से सरकार नहीं चल रही है तो हमें दे दे कुर्सी, हम सरकार चलाकर दिखा देंगे