जिस बात को लेकर गूगल ने Paytm को बैन किया है क्या यही बात सरकार को नही दिखाई दे रही थी ?

गिरीश मालवीय 
शर्म आना चाहिए मोदी सरकार को !.... जिस बात को लेकर गूगल ने पेटीएम ऐप को बैन किया है क्या यही बात सरकार को नही दिखाई दे रही थी ? क्या भारत की जनता के ऊपर मंडरा रहा ऑनलाइन जुए का जाल सरकार को नजर नही आ रहा है ?
क्या मोदी सरकार जनता की गाढ़ी कमाई को क्या ड्रीम 11, MPL और पेटीएम फर्स्ट गेम्स ऐप के हाथों लुटवाने चाहती है, पेटीएम ने कुछ दिनों पहले आईपीएल की लोकप्रियता को देखते हुए हाल ही में पेटीएम फर्स्ट गेम्स ऐप लॉन्च किया ओर इसे अपनी पेमेंट एप्प के साथ जोड़ दिया इस पर गंभीर आपत्ति उठाते हुए Google ने प्ले स्टोर से पेटीएम ऐप को हटा दिया है
गूगल ने अपने ब्लॉग में लिखा है कि ब्लॉग में, Google ने कहा, “हम ऑनलाइन कैसिनो की अनुमति नहीं देते हैं या किसी भी ऐसे अनियमित जुआ ऐप्स का समर्थन नहीं करते हैं जो खेल सट्टेबाजी की सुविधा प्रदान करते हैं। इसमें यह भी शामिल है कि अगर कोई ऐप उपभोक्ताओं को किसी बाहरी वेबसाइट पर ले जाता है जो उन्हें असली पैसे या नकद पुरस्कार जीतने के लिए भुगतान किए गए टूर्नामेंट में भाग लेने की अनुमति देता है, तो यह हमारी नीतियों का उल्लंघन है।
गूगल ने कहा है कि वह ऑनलाइन कसीनो और स्पोर्ट्स बेटिंग को सुविधा देने वाली गैरकानूनी गैंबलिंग की इजाजत नहीं दे सकता है। गूगल की प्रोडक्ट, एंड्रॉयड सिक्योरिटी और प्राइवेसी की वाइस प्रेसीडेंट सुजैन फ्रे ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा, 'जब कोई ऐप इन पॉलिसीज का उल्लंघन करता है तो हम डवलपर को इसकी जानकारी देते हैं। जब तक डवलपर पॉलिसी के अनुसार बदलाव करता है तब तक ऐप को प्ले स्टोर से हटा दिया जाता है।'
असली बात यह है कि गूगल को यह बात दिख रही है लेकिन मोदी सरकार को यह सब नही दिख रहा ?

Post a Comment

0 Comments