वर्चस्व की लड़ाई में मोंग गांव में हुई अंधाधुंध हवाई फायरिंग।। Raebareli news ।।

  


शिवाकांत अवस्थी

महराजगंज/रायबरेली: कोतवाली क्षेत्र के मोन गांव में बीती रात प्रधानी पद के चुनाव को लेकर वर्चस्व की लड़ाई सामने आई है। जबकि भाजपा नेत्री ने मौजूदा ग्राम प्रधान के अधिवक्ता पुत्र पर कई राउंड गोलियां चलाकर दहशत फैलाने का आरोप लगाया है। जबकि दूसरे पक्ष की ओर से फायरिंग से इनकार करते हुए, झूठे आरोप लगाकर फर्जी मुकदमा लिखाने का आरोप लगाया बताया जा रहा है।


   आपको बता दें कि, राजनीतिक विवाद का केंद्र बिंदु माने जाने वाले चर्चित गांव मोन में बीती रात लगभग 10 बजे ग्रामीणों ने हवाई फायरिंग की आवाज सुनी, इस मामले में सूचना पर कोतवाल महराजगंज श्रीराम की अगुवाई में 9 पुलिस की गाड़ियां भारी मात्रा में पुलिस बल लेकर मौके पर पहुंच गई। किंतु तब तक अशांति फैलाने वाले लोग निकल चुके थे। वहीं घटना के बारे में भारतीय जनता पार्टी की महिला मोर्चा की विधानसभा प्रभारी वंदना सिंह ने, जो इसी गांव की रहने वाली हैं और प्रधान विरोधी गुट की समर्थक मानी जाती हैं। उन्होंने कोतवाली में दी गई तहरीर में आरोप लगाया है कि, इनके गांव की प्रधान सरोजिनी सिंह के पुत्र अधिवक्ता शैलेंद्र सिंह ने दहशत फैलाने के लिए एक दर्जन ग्राउंड से ज्यादा फायर किए हैं। पुलिस ने मामले में भाजपा नेत्री की तहरीर पर शैलेंद्र सिंह के विरुद्ध धारा 286, 506 के तहत मुकदमा पंजीकृत कर लिया है। जबकि दूसरी ओर से ग्राम प्रधान सरोजिनी सिंह ने दूसरे पक्ष के 8 लोगों के विरुद्ध नामजद और 10, 12 अज्ञात के खिलाफ उनके आवास पर लगे प्रधान के बोर्ड पर लाठियों से तोड़फोड़ करने और गालियां देने का आरोप लगाते हुए एक हमलावर पर जान से मारने की नियत से कट्टे से फायर करने का भी आरोप लगाया है।

     हालांकि कोतवाली पुलिस ने मामले में प्रधान द्वारा किसी भी प्रकार की तहरीर दिए जाने से इनकार किया है। वहीं दूसरी तरफ ग्राम प्रधान सरोजिनी सिंह द्वारा कोतवाली में तहरीर देते हुए फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। मामला चर्चा का विषय है कि, आगामी ग्राम पंचायत चुनाव में प्रधानी के चुनाव को लेकर दोनों पक्षों में वर्चस्व की लड़ाई को लेकर एक दूसरे पर आरोप लगाए जा रहे हैं।

Post a Comment

0 Comments