झमाझम बारिश से लहलहाई धान की फसल, खिल उठे किसानों के चेहरे।। Raebareli news ।।

 

शिवाकांत अवस्थी

महराजगंज/रायबरेली: बीते बुधवार को इंद्रदेव के मेहरबान होने से जिले के साढ़े तीन लाख किसानों के चेहरे खिल उठे। बुधवार शाम 4:00 बजे से लगभग 1 घंटे झमाझम बारिश हुई। इससे धान की फसल लहलहा उठी। खेत में पानी भरा होने से किसानों के धान की पैदावार अधिक और दाना ज्यादा मजबूत होने की उम्मीद बंधी है।


    आपको बता दें कि, क्षेत्र के किसानों का कहना है कि, यह बारिश फसलों के लिए बहुत फायदेमंद है। इससे फसलों में लगने वाले रोगों से भी निजात मिलेगी। अगस्त माह में बारिश नहीं होने से किसानों की धान की फसले सूख रही थी। नहरों और बिजली की समस्या से किसानों की फसलों को भरपूर पानी नहीं मिलने से रोग लगने का खतरा बढ़ गया था। ऐसे में किसानों को फसल बचाने के लिए जद्दोजहद करनी पड़ रही थी। 


   बीते बुधवार लगभग 3:00 बजे से रिमझिम बारिश का सिलसिला शुरू हुआ और 7:00 बजे तक जोरदार बारिश हुई। इससे किसानों के खेत पानी से लबालब भर गए। पानी बरसने से किसानों के चेहरे खिल उठे।


किसानों शिव बहादुर पांडेय, डीडी मिश्रा, रमाकांत अवस्थी, मोन गांव के रहने वाले शारदा पांडेय, बधाई, माताफेर, रामबरन, जगदीश, राम अवतार, सुखराम का कहना है कि, यह बारिश फसलों के लिए सोना साबित होगी। कीट, रोग के प्रकोपों से लोगों को निजात मिलेगी। 

    शिवगढ़ ब्लॉक क्षेत्र के ओसाह गांव निवासी मनोज त्रिवेदी, रामहित का कहना कि, यह बारिश उर्द, मूंग, मूंगफली और धान की फसलों के लिए लाभदायक है। बारिश होने से धान की फसल में लगने वाला रोग झुलसा, पत्तियों का पीला होना, जैसी बीमारियों से निजात मिल जाएगी। 


     बछरावां ब्लॉक क्षेत्र के रहने वाले किसानों शशिकांत मिश्रा, चंद्रशेखर ने बताया कि, बारिश से फसलों को फायदा हुआ है। इससे उत्पादन बढ़ेगा। जिला कृषि अधिकारी ने कहा कि, बारिश से धान समेत अन्य फसलों को फायदा होगा। इससे निश्चित ही उत्पादन बढ़ेगा। बारिश से फसलों में लगने वाले रोगों से भी निजात मिलेगी।

Comments

Popular posts from this blog

Bollywood Celebrities Phone Numbers | Actors, Actresses, Directors Personal Mobile Numbers & Whatsapp Numbers

जौनपुर: मुंगराबादशाहपुर के BJP चेयरमैन ने युवती के साथ कई महीने तक किया बलात्कार, देखें वायरल वीडियो

किन्नर बोले- अगर BJP से सरकार नहीं चल रही है तो हमें दे दे कुर्सी, हम सरकार चलाकर दिखा देंगे