महराजगंज थाना क्षेत्र के रहने वाले ट्रक ड्राइवर इंद्रेश बहादुर सिंह की भोपाल में हुई निर्मम हत्या।। Raebareli news ।।

  


जिस को नौकरी देने के लिए बुलाया, उसी पर लग रहा, हत्या करने का आरोप

आरोपी भी महराजगंज थाना क्षेत्र के मुरैनी गांव का रहने वाला

शिवाकांत अवस्थी

महराजगंज/रायबरेली: महराजगंज कोतवाली क्षेत्र के पूरे हनुमंत मजरे ताजुद्दीनपुर में आज उस समय मातम पसर गया, जब खबर मिली कि, गांव के रहने वाले इंद्रेश बहादुर सिंह 46 पुत्र विद्यासागर सिंह जोकि मध्यप्रदेश के भोपाल शहर में ट्रक ड्राइवरी का काम करता था उसकी निर्मम ढंग से भोपाल में ही हत्या कर दी गई है, और हत्या का आरोप जिस पर लगाया जा रहा है, वह कोई और नहीं महराजगंज कोतवाली क्षेत्र के ही मुरैनी गांव का रहने वाला एक शख्स है, जिसको 5 दिन पहले ही मृतक ने गांव से भोपाल बुलाकर रोजी रोटी देने का वादा किया था। हालांकि अभी तक मामले में यह साबित नहीं हो सका है, कि इंद्रेश बहादुर सिंह की हत्या मुरैनी गांव के रहने वाले युवक ने ही की है।


    आपको बता दें कि, मृतक इंद्रेश बहादुर सिंह 25 साल पहले घर छोड़कर रोजी रोटी के सिलसिले में मध्यप्रदेश चला गया था, उसके पिता विद्यासागर सिंह ने बताया कि, वहां उसने भोपाल शहर में पहले ट्रक पर सहायक के रूप में काम करना शुरू कर दिया था, बाद में वह ड्राइवर बन गया, और उसका लाइसेंस वगैरह भी उसके मालिक ने हीं बनवा दिया था। बेहद मिलनसार कर्मठ और शांत स्वभाव का इंद्रेश बहादुर सिंह ट्रक चलाने के दौरान कभी रायबरेली व आसपास के क्षेत्र से ट्रक लेकर गुजरता था, तो मौका निकाल कर गांव भी चला आता था। उसके परिवार में उसकी पत्नी दो लड़कियां नंदिनी 17, अंकिता 13 तथा एक लड़का आदित्य सिंह 14 के अलावा पिता व दो भाई और हैं।


   ट्रक ड्राइवरी के दौरान इंद्रेश बहादुर सिंह ने काफी पैसा भी कमाया, जिससे उसने न केवल खेती के लिए जमीन खरीदी, बल्कि परिवार के रहने के लिए एक आलीशान मकान भी गांव में बनवाया था। यह भी बताया जा रहा है कि, वह गांव के लोगों के प्रति बहुत ही उदार प्रवृत्ति का था। लोगों की मदद करना उसके स्वभाव में था। यही पड़ोस के मुरैनी गांव के रहने वाले प्रदीप सिंह उर्फ दीपू 28 ने उससे मिलकर यह समस्या बताई थी कि, बेरोजगारी के चलते उसके परिवार के सामने भुखमरी की नौबत आ गई है। मृतक के परिजनों ने यह भी बताया कि, इस बार भोपाल जाने के बाद उसने प्रदीप सिंह को ट्रक पर क्लीनर का काम दिलाने के लिए महज 5 दिन पहले ही बुलाया था। चर्चा यह भी है कि, प्रदीप सिंह उर्फ दीपू जिद्दी स्वभाव का था, तथा उसे शराब पीने की बुरी लत भी थी। परिजनों के मुताबिक ट्रक पर काम करने वाले फतेहपुर जिले के दूसरे क्लीनर अनिल गुप्ता ने फोन से यह सूचना दी है कि, प्रदीप सिंह ने विवाद होने के बाद नशे की हालत में इंद्रेश बहादुर सिंह की हत्या कर दी। घटना भोपाल के वेलस्पन पार्किंग में घटित हुई है। लाश पुलिस ने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

    जैसे ही यह सूचना यहां गांव पहुंची, तो कोहराम मच गया, और इसकी चर्चा पूरे क्षेत्र में है। सूचना मिलने के बाद परिजन भोपाल के लिए रवाना हो गए हैं।

Comments

Popular posts from this blog

Bollywood Celebrities Phone Numbers | Actors, Actresses, Directors Personal Mobile Numbers & Whatsapp Numbers

जौनपुर: मुंगराबादशाहपुर के BJP चेयरमैन ने युवती के साथ कई महीने तक किया बलात्कार, देखें वायरल वीडियो

किन्नर बोले- अगर BJP से सरकार नहीं चल रही है तो हमें दे दे कुर्सी, हम सरकार चलाकर दिखा देंगे