भारतीय परंपरा और सादगी के साथ अपने जन्मदिन को बर्थडे की जगह जन्म दिवस का रूप दे, तो वह काबिले तारीफ ही कहा जाएगा।। Raebareli news ।।

  


शिवाकांत अवस्थी

महराजगंज/रायबरेली: आजकल समाज में बर्थडे मनाने का एक फैशन सा चल निकला है। छोटे स्तर से लेकर नेता, अभिनेता, अधिकारी और विभिन्न संगठनों के पदों पर आसीन लोग केक काटकर तथा मोमबत्तियां बुझाकर जन्मदिन मनाते फूले नहीं समाते हैं। बर्थडे समारोह को ज्यादा से ज्यादा चमक दमक भरा बनाने की कोशिश में अंधाधुंध रकम खर्च की जाती है। जिसमें पूरी तरह से अंग्रेजियन दिखे। ऐसे कार्यक्रम को समाज के अधिकांश तबके द्वारा पसंद किया जाता है। इस चकाचौंध में कोई भी युवा यदि भारतीय परंपरा और सादगी के साथ अपने जन्मदिन को बर्थडे की जगह जन्म दिवस का रूप दे, तो वह काबिले तारीफ ही कहा जाएगा। ऐसा ही एक अनूठा उदाहरण क्षेत्र के नारायणपुर मजरे मोन गांव के रहने वाले युवा व्यवसाई व समाजसेवी शैलेंद्र प्रताप उर्फ राहुल साहू ने कर दिखाया है, जो आम जनमानस में चर्चा का विषय बना हुआ है।

    आपको बता दें कि, विगत 8 सितंबर 2020 दिन मंगलवार को राहुल साहू का 28वां जन्म दिवस था, बगैर किसी शोर-शराबे के उन्होंने जन्मदिवस को सेवा संकल्प दिवस के रूप में मानते हुए, दिनचर्या की शुरुआत अपनी पूजनीया, वंदनीया माता श्री के चरणों में अपना शीश रखकर उन्हें आभार जताया कि, उन्होंने अपनी कोख से उनको जन्म दिया है। उन्होंने माता जी को अंग वस्त्र के रूप में साल उढाते हुए यथोचित दक्षिणा उनके चरणों में समर्पित की। इसके पश्चात उन्होंने अपने पूज्य पिताश्री के चरणों में शीश झुकाते हुए आशीर्वाद प्राप्त किया। इसके पश्चात उन्होंने मोन गांव में प्रसिद्ध बाबा हरिदास की तपोस्थली जाकर उनकी समाधि पर नतमस्तक हुए, और मंदिर परिसर में बजरंगबली की प्रतिमा पर जाकर प्रसाद चढ़ाया तथा मंदिर परिसर में पुजारी समेत सभी संत महात्माओं के चरणों को अपने मस्तक पर धारण करके आशीर्वाद लिया, और सभी को अंग वस्त्र तथा यथोचित दक्षिणा प्रदान की।

      इसी क्रम में मोन स्थित प्राचीन शिव मंदिर में दर्शन कर मंदिर के पुजारी व व्यवस्थापक शारदा प्रसाद पांडेय से शुभाशीष ग्रहण किया, और उनको भी अंग वस्त्र और दक्षिणा भेंट कर सम्मान किया। गदगद शारदा प्रसाद पांडेय ने श्री साहू को चिरायु होने का आशीर्वाद दिया। तत्पश्चात राहुल साहू क्षेत्र के बबुरिहा धाम स्थित स्वामी हरिदास महाराज की तपोस्थली पर जाकर मत्था टेका। इसके उपरांत क्षेत्र के सुविख्यात महराजगंज कस्बे के दानेश्वर शिवालय में भी उन्होंने शिवजी की पूजा अर्चना की। वहीं पड़ोस के बजरंगबली मंदिर पर भी जाकर उन्होंने हनुमंत लाला की श्रंगार पूजा की।

      इसके अलावा श्री साहू ने यहां मौजूद पुजारियों को अंग वस्त्र के साथ दक्षिणा भेट की, तथा उनसे आशीर्वाद ग्रहण किया। इसके उपरांत शालीनता पूर्वक वह अपने गांव पहुंचे, और शिक्षा देने वाले गुरुजनों का भी आशीर्वाद ग्रहण कर सबको सम्मानित किया। कार्यक्रम के तहत मोन गांव में प्राचीन शिव मंदिर पर विद्वान पंडित द्वारा शास्त्रीय ढंग से मंत्रोच्चारण के साथ शिवजी की पूजा की गई। इस दौरान अपने से बड़े बुजुर्गों माताओं के चरण छूकर राहुल ने आशीर्वाद ग्रहण करने का सिलसिला देश शाम तक जारी रखा। लोगों का कारवां आता गया, सभी ने राहुल साहू द्वारा आदर्श तरीके से जन्मदिन को मनाए जाने की इस विधा पर हर्ष जताते हुए राहुल साहू को दीर्घायु होने तथा यशस्वी होने का आशीर्वाद दिया। राहुल साहू को उनके 28वें जन्मदिन पर बधाइयों का सिलसिला सोशल मीडिया पर भी खूब छाया रहा, उनके हजारों समर्थकों ने उन्हें जन्मदिवस पर उनके चिरआयु की कामना करते हुए की बधाई दी।

Post a Comment

0 Comments