कलयुग में जीवित माता-पिता ही ईश्वर का अवतार है, उनकी पूजा से जीवन का उद्धार होगा-रावत।। Raebareli news ।।

  


शिवाकांत अवस्थी

शिवगढ़/रायबरेली: कलयुग में जीवित माता-पिता ही ईश्वर का अवतार है, उनकी पूजा से जीवन का उद्धार होगा। यह उद्गार विकास खंड सभागार में जननी जनक महोत्सव के दौरान क्षेत्रीय विधायक राम नरेश रावत ने व्यक्त किए।


  आपको बता दें कि, विकासखंड क्षेत्र के ब्लॉक सभागार में पूर्व ब्लाक प्रमुख कुंवर हनुमंत प्रताप सिंह की अध्यक्षता में जननी जनक महोत्सव का आयोजन संपन्न हुआ। जिसके मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक राम नरेश रावत ने आए हुए 13 परिवारों के बुजुर्गों व उनके बच्चों का स्वागत अभिनंदन किया। अंग वस्त्र देकर सभी माता-पिता को सम्मानित किया, और अपने उद्गार व्यक्त करते हुए कहा कि, कलयुग में साक्षात ईश्वर का अवतार माता पिता ही हैं। जिसका उल्लेख मानस में तुलसीदास ने भी किया है। प्रात काल उठिके रघुनाथा, मात पिता गुरु नावहिं माथा। जहां साक्षात् नारायण ने भी माता पिता और गुरु का सम्मान किया है। इस पावन भूमि पर यही साक्षात देवता है, उनका समाज में जीवित रहते ही पूजन करना चाहिए।


     कुंवर हनुमान प्रताप सिंह ने भी अपने उद्गार व्यक्त किए।उपस्थित खंड विकास अधिकारी अजय कुमार सिंह ने कहा कि, माता पिता की बदौलत ही पुत्र आगे बढ़ता है। इसलिए अपने माता-पिता को कभी नहीं भूलना चाहिए, ना रहने के बाद पितरों को पानी देने से कोई फायदा नहीं, जीवित माता-पिता का ही सदैव पूजन करते रहना चाहिए। इस अवसर पर नंदकिशोर तिवारी, राकेश बाबू तिवारी, शशि भदोरिया, पंकज मिश्रा, विष्णु कुमार गोस्वामी, सरोज गौतम, डॉक्टर जीबी सिंह, मयंक द्विवेदी, सर्वेश प्रवेश वर्मा आदि उपस्थित रहे।


Post a Comment

0 Comments