जनसामान्य स्वास्थ्य प्रोटोकाल का पालन करे क्योकि लापरवाही के कारण ही कोरोना संक्रमण का प्रसार बढ़ता है-डीएम।। Raebareli news ।।

  


फोटो-डीएम वैभव श्रीवास्तव

जनसामान्य स्वास्थ्य प्रोटोकाल का पालन करते हुए घर से बाहर निकलने पर मास्क अवश्य लगाए व सोशल डिस्टेसिंग का रखें ध्यान-वैभव 

शिवाकांत अवस्थी                                                               रायबरेली: जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने आमजनमानस से कहा है कि, कोविड-19 कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए प्रभावी रोकथाम एवं बचाव हेतु कोविड-19 कोरोना वायरस की गम्भीरता के दृष्टिगत रखते हुए स्वास्थ्य प्रोटोकाल का पालन करते हुए घर से बाहर निकलने पर मास्क अवश्य लगाए व सोशल डिस्टेसिंग का ध्यान रखें। लापरवाही के कारण ही कोरोना संक्रमण का प्रसार बढ़ता है, सभी से अपील है कि डरे नहीं, संयम रखें और उचित सावधानियों का कठोर रूप से पालन करें, इस बीमारी से लड़ने का क्वाॅरन्टाइन और आॅइसोलेशन ही सबसे बेहतर तरीका है। कोविड-19 (कोरोना वायरस) के संक्रमण से बचाव एवं नियंत्रण हेतु जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी प्रकार के उपाय किये जा रहें है। इस समय प्रत्येक नागरिक एक सिपाही है, जिसे कोरोना वायरस की रोकथाम की जंग में अपनी सहभागिता प्रदान करना अति आवश्यक है। यदि आपको, आपके परिवारजनों या आपके आसपास के किसी भी व्यक्ति को खाॅंसी, बुखार, साॅंस लेने में तकलीफ हो तो तत्काल जनपद में स्थापित एकीकृत कोविड कमाण्ड एवं कंट्रोल सेन्टर के दूरभाष नंबर 0535-2203214, 2203320, 9532748340, 9532511074, 9532647079, 0535-2208145, 2701703, 2203214, 2701702 पर अविलम्ब सूचना दें। साथ ही तत्काल नजदीकी चिकित्सालय यथा-जिला अस्पताल, सीएचसी में जाकर अपनी कोविड-19 (कोरोना वायरस) की निःशुल्क जांच करायें एवं ईलाज कराकर स्वयं व दूसरों को कोविड-19 के संक्रमण से बचाने में आगे आयें तथा एक जिम्मेदार नागरिक की भूमिका अदा करें। आपका यह कदम कोरोना संक्रमण के फैलाव की कड़ी को तोड़ने के लिये अति आवश्यक है। 

      आपको बता दें कि, जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने स्वास्थ्य कार्यकर्ता (महिला), आंगनबाड़ी कार्यकत्री, आशाबहू आदि को निर्देश दिये कि सर्विलांस गतिविधियों की गंभीरता से लेते हुए सर्विलांस की गतिविधियों के प्रभावी अनुश्रवण द्वारा आप अपने क्षेत्र के लोगों से कोरोना जागरूकता, बचाव एवं सौपे गये कार्यो का भली-भांति निर्वहन से कोरोना चैन तोड़ने के साथ ही लोगों का जीवन की रक्षा कर सकती हैं। भ्रमण के दौरान अपने क्षेत्रों में स्वयं भी कोरोना से बचने के स्वास्थ्य प्रोटोकाल का कड़ी से पालन करे तथा लोगो को कराये। यदि कोई व्यक्ति बुखार, खासी, सांस फुलने की समस्याओं से ग्रसित है तो तत्काल नजदीकी सीएचसी पर कोविड-19 की जांच करवाने को प्रेरित करे साथ ही उसका रिकार्ड जरूर रखे कि व्यक्ति की कोविड-19 की जांच कराई गई है या नही यदि व्यक्ति स्वास्थ्य कार्यकता महिला, आंगनबाड़ी कार्यकत्री, आशाबहू के परामर्श के पश्चात भी जांच नही करवाता है तो सीएचसी के एमओआईसी को सूचना अवश्य दें और अपने कार्यो में अधिक गम्भीरता से जुट कर संकल्प ले कि सर्विलास गतिविधियों पर विशेष ध्यान देंकर लोगों को कोविड-19 संक्रमण के प्रति जागरूक कर व उचित इलाज कराकर उसके जीवन की रक्षा करने में आगे रहेंगे। 

      जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने सीएमओं व सीडीओं को निर्देश दिये कि एल-1 व एल-2 अस्पतालों में सुविधाओं को और अधिक बेहतर बनाये साथ सभी कोविड अस्पतालों में वेन्टीलेटर की सुविधा पूरी तरह से दुरूस्त रहे। वेन्टीलेटर ठीक से कार्य करे कही किसी भी प्रकार वेन्टीलेटर में कोई दिक्कत हो या वेन्टीलेटर कार्य कर न रहा हो उसे तत्काल बदलवादे या ठीक कराये। उन्होंने कहा कोविड अस्पतालों में, होम क्वारनटाइन में रह रहे मरीजों से निरन्तर संवाद रहे उन्हें किसी भी प्रकार की खान-पान आदि में कोई दिक्कत न हो। मरीजों जलपान, खाना आदि दिया जाये व उच्च स्तरीय गुणवत्ता युक्त रहे। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये सभी प्रभारी अधिकारी/नोडल अधिकारी अपने कार्यो को टीम भावना से युद्ध स्तर पर करे। शीर्ष प्राथमिकता वाले कार्यो को शीर्ष प्राथमिकता से किया जाये। उन्होंने कहा कि कोरोना मरीज से किसी भी प्रकार का अमानवीय व्यवहार न किया जाये। कोरोना मरीजों को एल-1 व एल-2 अस्पताल में भर्ती इसलिये किया जाता ताकि उसका भली-भांति इलाज हो वह पूरी तरह सुरक्षित रहे स्वयं तथा उसका परिवार व अन्य लोग कोरोना की चपेट में न आये सोशल दूरी बनाकर कोरोना संक्रमण को रोकना है। यदि कोई कोरोना मरीज जाने-अनजाने अस्पताल से भागने का प्रयास कर रहा है या बाहर जाने की जिद् कर रहा है, समझाने-बुझाने पर नही मानता है अपने परिजनों को बात नही मान रहा है तथा स्वास्थ्य प्रोटोकाल का जानबुझकर का उल्लघंन करे तोे ऐसे लापरवाह गैर जिम्मेदार मरीज या अन्य कोई जिसे अपनी व दूसरों की कोई चिन्ता नही है पुनः समझाये न मानने पर कोरोना आपदा प्रबन्धन एक्ट के तहत प्रथम सूचना रिर्पोट दर्ज करा दण्डात्मक कार्यवाही में भी कोई गुरेज न करें। कोरोना टेस्ट व एन्टीजेन टेस्ट की संख्या में बढ़ोत्तरी लाये। उन्होंने कहा टेस्ट व कोरोना मरीजों का नाम, पता, मो0नं0 आदि सारी सूचनाएं सही व उससे पूछ कर भरे तथा सूचनाओं को कन्ट्रोल रूम में भी अपडेट करा दें। उन्होंने निर्देश दिये कि यदि किसी मरीज को लखनऊ में भर्ती कराना है तो पहले पीजीआई के निदेशक या अन्य प्रभारी से बात कर ले कि तदनानुसार कार्यवाही करे।    अनावश्यक रूप से मरीज को लेकर एम्बुलेंस न घुमें। जनपद के एल-1 व एल-2 अस्पतालों को पूरी तरह से सक्रिय रखे। मानव संसाधन की कमी हो तो इसके लिये सीएमओं जेम पोर्टल या नियमानुसार डिमाण्ड कर लें। उन्होंने कहा अधिकारी जो भी रिर्पोट दे वह ठीक हो गलती की गुंजाइस न रहे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि कलेक्ट्रेट द्वारा जारी कोरोना अपील को जनसामान्य में वितरित कर उन्हें जागरूक करें।

Comments

Popular posts from this blog

Bollywood Celebrities Phone Numbers | Actors, Actresses, Directors Personal Mobile Numbers & Whatsapp Numbers

जौनपुर: मुंगराबादशाहपुर के BJP चेयरमैन ने युवती के साथ कई महीने तक किया बलात्कार, देखें वायरल वीडियो

किन्नर बोले- अगर BJP से सरकार नहीं चल रही है तो हमें दे दे कुर्सी, हम सरकार चलाकर दिखा देंगे