राष्ट्रपिता ने पूरे विश्व को शांति मैत्री सद्भावना का संदेश दिया है-ज्ञान प्रकाश तिवारी।। Raebareli news ।।

  


शिवाकांत अवस्थी

रायबरेली: राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं आरटीआई जागरूकता संगठन के राष्ट्रीय प्रभारी एवं राष्ट्रीय अनुशासन मंत्री ज्ञान प्रकाश तिवारी ने कहा कि, विश्व में अपनी पहचान बनाने वाले हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को हर समय याद करते रहेंगे। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 151वी जयंती के मौके पर देशभर में कई कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि, गांधी जी के सपनों का भारत बनाने के लिए हमें उनके सिद्धान्तों पर चलना होगा। 2 अक्टूबर को उनकी जयंती अहिंसा दिवस के रूप में मनाते हुए, हमें उनके आदर्शों पर चलने के लिए संकल्पित होना होगा। गांधी के विचार विश्व के लिए इसलिए भी प्रासंगिक हैं, क्योंकि उन विचारों को उन्होंने स्वयं अपने आचरण में ढालकर सिद्ध किया। उन विचारों को सत्य और अहिंसा की कसौटी पर जांचा-परखा।

     आपको बता दें कि, अहिंसा दिवस 2 अक्टूबर पर राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं आरटीआई जागरूकता संगठन परिवार ने ग्लोबल गांधी पीस अवार्ड का आयोजन कर रहा है। जिसमें भारत के कई राज्यों के भाग लेने की उम्मीद है। आगामी 2 अक्टूबर को विश्वशान्ति के अग्रदूत राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की जयन्ती के अवसर पर राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं आरटीआई जागरूकता संगठन भारत परिवार के राष्ट्रीय अध्यक्ष भाटी ने अंतर्राष्ट्रीय युवा विकास और वैश्विक गांधी शांति पुरस्कार व शिखर सम्मेलन का आयोजन करने एवं भारत के कोने-कोने से युवाओं के विकास के लिए एवं विश्व शांति के लिए कार्य कर रहे युवाओं को गूगल मीट पर ग्लोबल गांधी पीस पुरस्कार से सम्मानित करने की घोषणा की है। जिसमें युवाओं की समस्याओं और उनके विकास पर चर्चा के साथ-साथ भारत के विशिष्ट 51 युवा और युवती को इस क्षेत्र में काम करने के लिए सम्मानित किया जाएगा।

    उन्होंने बताया कि, जो अपने क्षेत्र में गरीबों की सेवा स्वच्छता अभियान पर लेख और सफाई अभियान के तहत कार्य कर रहे हैं, ऐसे युवाओं और युवतियों क़ो उनका संगठन 2 अक्टूबर को सम्मानित करेगा। ऐसे युवा और युवतियां उनके राष्ट्रीय अध्यक्ष से संपर्क कर सकते है और अपनी कार्यशैली बताते हुए उनका संगठन उन्हें इन कार्यों का सम्मान पत्र देकर सम्मानित करेगा।

Post a Comment

0 Comments