जनपद न्यायालय में माध्यस्थम, सुलह तथा वैकल्पिक विवाद निवारण पर संगोष्ठी।। Raebareli news ।।

  


फोटो-जनपद न्यायाधीश महात्मा गांधी के चित्र पर माल्यार्पण करते व संगोष्ठी को सम्बोधित करते हुए

जनपद न्यायालय में माध्यस्थम, सुलह तथा वैकल्पिक विवाद निवारण पर संगोष्ठी

शिवाकांत अवस्थी

रायबरेली: मा0 राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, लखनऊ के निर्देशानुसार व जनपद न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के दिशानिर्देशन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रायबरेली के तत्वाधान में राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की 151 वीं जयन्ती के अवसर पर माध्यस्थम, सुलह तथा वैकल्पिक विवाद निवारण पर संगोष्ठी का आयोजन जनपद न्यायालय रायबरेली के सभागार में किया गया। संगोष्ठी का शुभारम्भ जनपद न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अब्दुल शाहिद द्वारा राष्ट्रपिता व पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के चित्र पर माल्यार्पण व पुष्पअर्पण करके किया गया। जनपद न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा वैकल्पिक विवाद निवारण के सम्बन्ध में अपने विचार रखते हुए मध्यस्थता पर विस्तार पूर्वक चर्चा की और सभी को मध्यस्थता के माध्यम से अधिक से अधिक वाद के निपटारे के लिए प्रेरित किया। सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मयंक जायसवाल द्वारा संगोष्ठी का आयोजन एवं मंच संचालन किया गया। संगोष्ठी में अपर सिविल जज (जू0डी0) सुश्री तन्वी सिंह, अपर सिविल जज (जू0डी0) मोहम्मद शहनवाज अहमद सिद्दकी, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट मेराज अहमद, अपर जिला जज (एफ0टी0सी0) सुश्री कीर्ति माला सिंह, अपर जिला जज विनोद कुमार बरनवाल, अपर जिला जज प्रथम जैगम उद्दीन व प्रधान न्यायाधीश रवीन्द्र विक्रम सिंह के द्वारा अपने विचार सुलह तथा वैकल्पिक विवाद निवारण संगोष्ठी पर व्यक्त किये गये। 


     आपको बता दें कि, गाँधी जयंती पर सभी को स्वच्छता के प्रति सजग रहने हेतु जागरुक किया गया, संगोष्ठी में जनपद न्यायालय के सभी न्यायिक अधिकारीगण उपस्थित रहे।     संगोष्ठी मे सेन्ट्रल बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष अधिवक्ता लक्ष्मी शंकर बाजपेयी, वरिष्ठ अधिवक्ता डी0पी0 पाल द्वारा अपने विचार व्यक्त किये गए। संगोष्ठी मे सेन्ट्रल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेन्द्र बहादुर सिंह भदौरिया, महामंत्री शशिकान्त शुक्ला उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments